पहले दिन करीब 3 गुना आए Happiest Minds IPO के लिए आवेदन, आज फिर से देखने को मिलेगी रौनक

  • सोमवार को 2,32,59,550 शेयरों के मुकाबले निर्गम में कुल 6,67,09,800 बोलियां हुईं प्राप्त
  • संस्थागत श्रेणी में आठ, गैर- संस्थागत निवेशकों की श्रेणी में 62 फीसदी तक आए आवेदन

By: Saurabh Sharma

Published: 08 Sep 2020, 09:17 AM IST

नई दिल्ली। आईटी कंपनी हैपिएस्ट माइंड्स के आईपीओ ( Happiest Minds IPO ) ने पहले दिन जोरदार सफलता हासिल करते हुए करीब 3 गुना आवेदन प्राप्त किए। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में मौजूद आंकड़ों के अनुसार आईपीओ के लिए कुल 2,32,59,550 शेयर पेश किए गए थे। जिसके मुकाबले सोमवार को पहले दिन कुल 6,67,09,800 आवेदन मिले हैं। जानकारों की मानें तो कंपनी के आईपीओ के पहले दिन निवेशकों का रिस्पांस काफी अच्छा देखने को मिला है। आने वाले दिनों में ऐसा ही रिस्पांस जारी रहने की उम्मीद की जा रही है। आइए आपको भी बताते हैं कि आईपीओ को किस श्रेणी के निवेशकों की ओर से कैसा रिस्पांस देखने को मिला हैै।

यह भी पढ़ेंः- Nirav Modi के खिलाफ सुनवाई में लंदन कोर्ट में चली ऑर्थर रोड जेल की वीडियो, जानिए क्या है पूरा मामला

किस श्रेणी से कितने आवेदन
- संस्थागत खरीदारों की श्रेणी में आठ फीसदी आवेदन किए।
- गैर- संस्थागत निवेशकों की श्रेणी में 62 फीसदी आवेदन मिले।
- खुदरा निवेशकों की श्रेणी में 14.61 गुणा शेयरों के लिए आवेदन आए।
- कंपनी एंकर निवेशकों से 316 करोड़ रुपए जुटा चुकी है।
- आईपीओ बुधवार, 9 सितंबर को बंद हो जाएगा।
- आईपीओ में मूल्य दायरा 165 रुपए से 166 रुपए रखा गया।

यह भी पढ़ेंः- वीडियोकॉन घोटाला: ईडी की बड़ी कार्रवाई, Chanda Kochhar के पति दीपक कोचर गिरफ्तार

डिजिटल विंग से आता है 97 फीसदी रेवेन्यू
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हैपिएस्ट माइंड्स के रेवेन्यू मॉडल की बात करें तो उसका 97 फीसदी रेवेन्यू डिजिटल विंग से आता है। जो कि देश की बड़ी आईटी कंपनियों इन्फोसिस, कॉग्निजेंट, माइंडट्री के मुकाबले काफी ज्यादा है। जबकि इन का ऐवरेज कंट्रीब्यूशन 40-50 फीसदी के करीब है। आपको बता दें कि कंपनी के प्रमोटर अशोक सूता मिडकैप आईटी फर्म माइंडस्पेस के फाउंडर रह चुके हैं। जिसे आद में लार्सन ऐंड टूब्रो ने खरीद लिया था। अशोक सूता ने विप्रो के साथ 15 सालों तक काम किया।

यह भी पढ़ेंः- Etihad Airways के कर्मचारियों को सितंबर महीने से मिलेगी राहत, जानिए क्या है पूरा मामला

कब हुई थी कंपनी की शुरुआत
अशोक सूता ने हैपिएस्ट माइंड्स की शुरूआत अप्रैल 2011 में की थी। जिसका हेडक्वार्टर बेंगलुरु में बनाया गया है। कंपनी डिजिटल बिजनेस सर्विसेज, प्रोडक्ट इंजीनियरिंग सर्विसेज और इंफ्रास्ट्रक्चर मैनेजमेंट और सेक्योरिटी सर्विसेज देती है। कंपनी के एंकर्स निवेशकों में सिंगापुर सरकार, गोल्डमैन सैक्स, कुवैत इंवेस्टमेंट अथॉरिटी, नोमुरा फंड्स आयरलैंड, जुपिटर इंडिया और पैसिफिक होराइजन इन्वेस्टमेंट शामिल हैं।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned