Independence Day 2021: 75 साल में गोल्ड ने दिया 52,000% रिटर्न, ऐसा रहा अब तक का सफर

 

Independence Day 2021: 1947 में सोने का भाव करीब 88 रुपए प्रति 10 ग्राम था। वर्तमान में गोल्ड का भाव 46,500 रुपए के करीब है।

By: Dhirendra

Updated: 14 Aug 2021, 12:28 AM IST

Independence Day 2021: हर भारतीय परिवार के सदस्यों का सोने से गहरा व भावनात्मक रिश्ता रहा है। लेकिन इस बात को बहुत कम लोग जानते हैं कि आजादी के 75 सालों में यह जुड़ाव पहले से भी ज्यादा गहरा हो गया है। यही कारण है कि हर घर में कुछ न कुछ सोना जरूर मिलता है। सोने के साथ इस खास रिश्ते की वजह से ही लोग गरीब हों या अमीर, कम या ज्यादा मात्रा में अपने पास जरूर रखते हैं। फिर इमरजेंसी में अचानक पैसे की जरूरत को पूरा करने के लिए सोने को बेहतर जरिया भी माना जाता रहा है।

Read More : Independence Day 2021: आजादी से पहले की वो कंपनियां जो आज भी हैं भारतीय बाजार की शान

75 साल पहले सोने का भाव प्रति 10 ग्राम था 88 रुपए

दरअसल, देश की आजादी के बाद से अब तक गोल्ड में लगभग 52,000 फीसदी तक की बढ़त देखने को मिली है। 1947 में सोने का भाव करीब 88 रुपए प्रति 10 ग्राम था। 1959 में पहली बार सोना 100 रुपए प्रति 10 ग्राम के पार गया था। वहीं 1974 में सोना 500 के लेवल के पार करने में कायम रहा। 2007 में सोने का भाव 10,000 रुपए प्रति 10 ग्राम रहा था। अगस्त 2020 में इसने 56, 191 का रिकॉर्ड पार किया। वर्तमान में सोने का भाव ऑल टाइम हाई से लगभग 10,000 रुपए कम है। वर्तमान में गोल्ड का भाव 46,500 रुपए के करीब है।

Read More: PPF: केवल 1,000 रुपए निवेश कर पाएं 18 लाख का रिटर्न, जानिए क्या है तरीका?

उतार-चढ़ाव में अच्छा रिटर्न देता है सोना

सोने के जानकारों का कहना है कि ज्वेलरी के अलावा डिजिटल गोल्ड में निवेश बढ़ाने का अच्छा समय है। गोल्ड ईटीएफ, गोल्ड बॉन्ड, और गोल्ड एमएफ में निवेश किया जा सकता है। सोने में निवेश ज्वेलरी, गोल्ड कॉइन,ईटीजी गोल्ड, सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड, डिजिटल गोल्ड और गोल्ड डेरिवेटिव्स निवेश का विकल्प हो सकता है। उतार-चढ़ाव के दौर में सोने में अच्छा रिटर्न मिलता है।

Read More: TATA GROUP: 2 शेयरों ने निवेशकों का एक साल में पैसा कर दिया दोगुना, जानें कैसे?

गोल्ड की खरीदारी के समय इस बात का रखें ध्यान

सोना कारोबार से जुड़े विशेषज्ञों का कहना है कि सोना खरीदते वक्त सोने उसकी शुद्धता और हॉलमार्किंग का खासतौर से ध्यान रखें। बिल में हॉलमार्किंग और कीमत जरूर लिखवाएं। सोने की हॉलमार्किंग कैरेट के हिसाब से तय होती है। ज्वेलरी में मेकिंग चार्ज का ध्यान रखना जरूरी है। मेकिंग चार्ज 3% से 25% तक हो सकता है। साथ ही जेम्स और स्टोन का सर्टिफिकेट जरूर लें।

Read More: Fixed Deposit पर सबसे ज्यादा 7.75% मिलेगा ब्याज, यहां करें निवेश

Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned