Elon Musk के एक Tweet से Tesla के एक लाख करोड़ रुपए साफ

  • Elon Musk ने ट्वीट कर Tesla को एक बार फिर से मुसीबत में डाला
  • Tesla Share 7.17 फीसदी की गिरावट के साथ 701.32 डॉलर पर बंद
  • Tweet से 2018 में भी कंपनी को 8 अरब डॉलर का हुआ था नुकसान

By: Saurabh Sharma

Updated: 02 May 2020, 03:06 PM IST

नई दिल्ली। इलेक्ट्रिकल व्हीकल बनाने वाली दुनिया की दिग्गज कंपनी टेस्ला ( Tesla ) के लिए सीईओ एलन मस्क ( Elon Musk ) एक बार फिर से मुसीबत बन गए हैं। खासकर उनके ट्वीट। इस बार एलन मस्क के एक ट्वीट ( Elon Musk Tweet ) ने कंपनी के एक लाख करोड़ रुपए साफ कर दिए। वास्तव में एलन मस्क ने एक ट्वीट में कहा कि टेस्ला के शेयर की कीमत ( Tesla Share Price ) काफी बढ़ गई है। फिर से क्या था, एकदम से शेयरों की बिकवाली शुरू हो गई और शेयर के दाम में नीचे आ गए।

कंपनी को इससे एक लाख करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा। इससे पहले मस्क के ट्वीट से कंपनी को 8 अरब डॉलर का नुकसान हुआ था और कंपनी ने एलन मस्क को डिमोट कर दिया था।

यह भी पढ़ेंः- RBI ने CKP Co-operative Bank को दिया झटका, मुसीबत में सवा लाख अकाउंट होल्डर्स

30 मिनट में 12 फीसदी टूटा टेस्ला का शेयर
जानकारी के अनुसार इस ट्वीट के बाद आधे घंटे में कंपनी के शेयरों में 12 फीसदी की गिरावट देखने को मिली। उसके बाद शेयर में हल्की रिकवरी दिखाई दी और कंपनी का शेयर 7.17 फीसदी की गिरावट के साथ 701.32 डॉलर यानी 52,599 रुपए पर बंद हुआ।

जानकारों की मानें तो कोरोना वायरस और मौजूदा आर्थिक मंदी के बाद भी एलन मस्क और कंपनी के शेयरों में काफी मजबूती देखने को मिली है। मस्क दुनिया के उन गिनेचुने लोगों में रहे जिन्होंने साल के शुरूआती तीन महीनों में काफी फायदा हुआ। लेकिन उनके एक ट्वीट ने सबकुछ बराबर कर दिया।

यह भी पढ़ेंः- 17 राज्यों में लागू हुआ One Nation One Ration Card, 60 करोड़ लाभार्थियों को मिलेगा लाभ

2018 में भी ट्वीट से हुआ था नुकसान
एलन मस्क ने अगस्त 2018 में एक ट्वीट किया था कि टेस्ला एक प्राइवेट कंपनी बनने जा रही है। कंपनी का एक शेयर 420 डॉलर यानी 31,500 रुपए में बिकेगा। जिसके बाद शेयर बाजार में भूचाल आ गया था। जिसके बाद मस्क को कंपनी के सीईओ पद से हाथा धोना पड़ा था। इस ट्वीट के बाद कंपनी की वैल्यू में 8 अरब डॉलर की कमी यानी 141 अरब डॉलर से कम होकर 133 अरब डॉलर रह गई थी।

उसके बाद सेटलमेंट हुआ और यूएस सिक्यॉरिटी एंड एक्सचेंज कमिशन में फर्जीवाड़े का केस दर्ज हुआ था। कंपनी और मस्क पर 4 करोड़ डॉलर का जुर्माना भी लगाया गया। इस घटना के बाद मस्क को टेस्ला बोर्ड के चेयरमैन पद से हटा दिया गया था।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned