scriptDm has set up investigation in the matter of samajwadi housing scheme | BJP MLC के पति पर समाजवादी आवासीय योजना में करोड़ों की धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज | Patrika News

BJP MLC के पति पर समाजवादी आवासीय योजना में करोड़ों की धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज

भाजपा एमएलसी डॉ. सरोजनी अग्रवाल के चिकित्सक पति सहित करीब आधा दर्जन से अधिक लोगों पर समाजवादी आवासीय योजना में करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी का मुकदमा कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुआ है। जिलाधिकारी मेरठ के बालाजी ने मुकदमा दर्ज कर जांच के लिए एक टीम गठित की है।

मेरठ

Published: November 17, 2021 01:54:00 pm

मेरठ. कभी सपा सरकार में पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की करीबी रहीं पूर्व सपा नेत्री डॉ. सरोजनी अग्रवाल ने सत्ता पलटते ही साइकिल को छोड़कर हाथ में कमल थाम लिया था। सपा सरकार के दौरान दौराला रोड पर समोली गांव के पास कृषि भूमि को आवासीय दिखाकर समाजवादी आवासीय योजना में फ्लैट दिलाने के नाम पर लोगों से करोड़ों की धोखाधड़ी हुई थी।
news-of-meerut.jpg
यह भी पढ़ें

जेसीबी से मिट्टी की खुदाई पर अब पुलिस नहीं लगाएगी रोक, शासन ने दिए आदेश

डीएम ने दोबारा दिए जांच के आदेश

लोगों को मकान का सपना दिखाकर करोड़ों की इस ठगी में कोर्ट के आदेश पर बिल्डर समेत सात लोगों पर दौराला थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। अब इस मामले में डीएम ने दोबारा टीम गठित कर जांच के आदेश दिए हैं। इस मामले में दौराला थाने में आठ से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। जबकि मवाना निवासी एक बिल्डर जेल जा चुका है। डीएम के. बालाजी ने एसडीएम सरधना, एमडीए सचिव और सीओ दौराला को जांच सौंपी है।
सस्ते फ्लैट का दिया था लालच

समाजवादी आवासीय योजना के तहत सस्ते फ्लैट के लिए इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर रवि रस्तोगी निवासी गोल मार्केट मवाना, डॉ. ओमप्रकाश अग्रवाल व डा. मीना अग्रवाल निवासी जवाहर क्वार्टर बेगमब्रिज, मनमोहन सपरा निवासी पंजाब ज्वैलर्स सदर बाजार आबूलेन, अनुराग गर्ग निवासी नेहरूनगर गढ़ रोड, आलोक रस्तोगी निवासी सेंट्रल मार्केट मेरठ, अखिलेश चौहान निवासी गाजियाबाद ने दौराला थाना क्षेत्र के समोली सलेमपुर में ऑफिस बनाकर कृषि भूमि को आवासीय कराया और लोगों को सस्ते फ्लैट देने का लालच दिया।
जीवन भर की पूंजी आशियाना पाने को लगाई, मिला धोखा

मेरठ में सैकड़ों लोगों ने अपने जीवन भर की पूंजी लाखों रुपये देकर आशियाने के रूप में फ्लैट बुक किए थे। परंतु न तो फ्लैट बन सके और ना ही उनके रुपये वापस हुए। इनमें एक बिल्डर एमएलसी सरोजनी अग्रवाल के पति हैं। जिस 22 हज़ार 790 वर्ग मीटर जमीन पर फ्लैट बने थे। उसे जिलाधिकारी ने 9 फरवरी 2021 की बोर्ड बैठक में मानचित्र के भूउपयोग को निरस्त कर आवासीय से दोबारा कृषि कर दिया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE : राष्ट्र के नाम संबोधन में बोले राष्ट्रपति कोविंद - कोविड नियमों का पालन करना ही राष्ट्र धर्मRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाUttar Pradesh Assembly Elections 2022: सपा का महा गठबंधन अखिलेश के लिए बड़ी चुनौतीबजट से पहले 1 फरवरी को बुलाई गई विधायक दल की बैठक, यह है अहम कारण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.