मुस्लिम बॉलीवुड एक्टर के परिवार ने शिव मंदिर के लिए दान की पुश्तैनी जमीन

कासिफ के दादा ने 1976 में दी थी मौखिक रूप से 200 गज जमीन
जमीन दान कर मंदिर बनवाने में हर संभव योगदान का दिया आश्वासन
दीपावली के मौके पर दान की हिंदू भाइयों को जमीन

By: shivmani tyagi

Updated: 17 Nov 2020, 10:23 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ ( meerut news ) सांप्रदायिकता के नाम पर जहां दिलों-दिमाग में मजहबी लकीरें खींची जा रही हैं और धर्म के नाम पर फिजा में जहर घोलने का काम किया जा रहा है। वहीं मेरठ ( Meerut ) में एक बार फिर से हिंदू-मुस्लिम की गंगा-जमुनी सभ्यता की मिसाल पेश की गई है। यह मिसाल एक मुस्लिम परिवार ने पेश की है। इस परिवार ने अपनी पुश्तैनी जमीन शिव मंदिर ( Shiva temple ) निर्माण के लिए हिंदू भाईयों को दान दी है। ये जमीन किसी और की नहीं बॉलीवुड एक्टर ( bollywood actor ) कासिफ अली के परिवार की है।

यह भी पढ़ें: CBI ने 50 बच्चों के कथित याैन शाेषण के आराेप में यूपी के एक जूनियर इंजीनियर काे गिरफ्तार

इस परिवार ने शिव मंदिर निर्माण के लिए अपनी जमीन दान कर सांप्रदायिक सौहार्द्र की मिसाल पेश की है। बालीवुड एक्टर के परिवार ने मंदिर के लिए जमीन दान करने का समय भी बहुत अच्छा चुना। शिव मंदिर के लिए जमीन दीपावली के दिन दान की गई। इस अवसर पर पुश्तैनी जमीन का मुस्लिम परिवार ने शिव मंदिर के नाम वसीयतनामा भी कर दिया। सभी लोग इस परिवार की सराहना कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: यूपी के सहारनपुर से दाे संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार, एटीएस कर रही पूछताछ

1976 में ही कासिफ के दादा ने मौखिक रूप से दान की थी जमीन
कासिफ अली के अनुसार 1976 में उनके दादा कासिम अली ने 200 गज जमीन ब्रह्मपुरी में शिव मंदिर के नाम मौखिक रूप से दान दी थी। उस समय उनके दादा और हिंदू परिवार मिलकर साथ रहते थे। हिंदू परिवार को पूजा करने के लिए दूर जाना होता था। इसलिए उनके दादा ने उसी समय पूजा के लिए मंदिर निर्माण की जगह अपनी वसीयत से दी थी लेकिन किन्हीं कारणों से उस समय मंदिर का निर्माण पूरी तरह से नहीं हो सका था। दान की जमीन पर भगवान स्थापित कर दिए गए थे और एक छोटा सा मंदिर बना दिया गया था।

यह भी पढ़ें: बागपत: मजदूरी के पैसे मांगने गए युवक की बैट से पीट-पीटकर हत्या, सड़क किनारे पड़ा मिला शव

अब उनके निधन के बाद उनके चाचा हाजी आसिम अली ने अब दिवाली के अवसर पर यह जमीन शिव मंदिर के नाम कर दी। इसकी कमेटी भी बनाई गई है। जमीन मंदिर के नाम देने के साथ ही मंदिर में हरसंभव योगदान का आश्वासन भी दिया है। हाजी आसिम अली निवासी मोहल्ला शाहनत्थन ने बताया कि वह समाज को भाईचारे का संदेश देना चाहते हैं। कासिफ अली ने बताया कि उनके दादा ने कुछ जमीन मस्जिद के भी नाम की है। मौखिक तौर पर दी गई जमीन पर शिव मंदिर का निर्माण 25 साल पहले हो गया था। अब पुश्तैनी जमीन जो शिव मंदिर के लिए दी थी, इसका वसीयतनामा शिव मंदिर के नाम कर दिया गया।

Show More
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned