प्रेमी जोड़े ने दी जान, सुसाइड नोट में लिखा- 'जिंदा रहकर नहीं मिल सकते तो साथ मरकर मिल जाएंगे'

मेरठ में दिल्ली रोड स्थित एक होटल के कमरे में प्रेमी युगल ने जहर खाकर की आत्महत्या

By: lokesh verma

Published: 03 Jul 2021, 04:49 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. दिल्ली रोड स्थित एक होटल के कमरे में प्रेमी-युगल ने जहर खाकर जान दे दी। युवती के परिवार के लोगों ने दूसरी जगह शादी तय कर दी थी, जिसके चलते दोनों ने आत्मघाती कदम उठाया है। होटल के कर्मचारी ने दूसरी चाबी से कमरा खोलकर दोनों के शव बेड पर पड़े देख पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दोनों के परिजनों को सूचना दे दी गई। पुलिस को होटल से सुसाइड नोट भी बरामद हुए हैं, जिसमे युवती ने सुसाइड नोट में लिखा कि युवक से बिछड़कर जीने का कोई अर्थ नहीं। इस कारण आत्‍मघाती कदम उठाया।

यह भी पढ़ेंं- महिला ने खुद को गोली मारकर किया सुसाइड, वायरल हुआ PM Modi को पिता मानकर लिखा गया ये पत्र

टीपीनगर थाना क्षेत्र के दिल्ली रोड स्थित मोहकमपुर में तिरुपति होटल में शुक्रवार दोपहर को मोहकमपुर के रोहन और शिवपुरी की रहने वाली अर्चना ने कमरा बुक किया था। होटल स्वामी नवनीत ने बताया कि दोनों ने बर्थ-डे पार्टी मनाने के लिए कमरा बुक किया था। हालांकि अपने खाने का सामान भी साथ लेकर आए थे। शाम को करीब पांच बजे तक रोहन ने अपनी बाइक को होटल की अंदर पार्किंग में खड़ा किया। उसके बाद फिर से रूम के अंदर चला गया। दोनों ने रात में कोई आर्डर नहीं दिया। उनका कहना था कि खाने का सभी इंतजाम साथ लेकर आए हैं।

शनिवार सुबह दस बजे तक भी दोनों कमरे से बाहर नहीं आए तो होटल के स्टाफ गौरव ने उनके कमरे का दरवाजा खटखटाया। लेकिन, दरवाजा नहीं खोला गया। उसके बाद भी होटल के स्टाफ ने तीस मिनट बाद दोबारा से दरवाजा खटखटाया। इसके बाद दरवाजा नहीं खुला तो अपनी चाबी से खोला गया। स्टाफ ने देखा कि बेड पर दोनों के शव पड़े हैं। पास के एक सुसाइड नोट रखा था। डस्टबिन में सल्फास का खाली पाउच पड़ा था। दोनों को मृत अवस्था में देखकर टीपीनगर पुलिस को सूचना दी गई। टीपीनगर पुलिस के साथ ही एसपी सिटी विनीत भटनागर भी मौके पर पहुंच गए। तत्काल ही उन्होंने फोरेंसिंक टीम को बुलाया। टीम ने फिंगर प्रिंट लिए साथ ही जहरीले पदार्थ के पाउस को भी कब्जे में लिया। उसके बाद दोनों मृतकों के परिजनों को पुलिस ने सूचना दे दी।

अर्चना ने लिखा था कि उसकी शादी परिवार के लोगों ने दूसरी जगह तय कर दी है। इसलिए उसका रोहन के बिना मन नहीं लगता है। अपने मन को कई बार समझाने की कोशिश की। तब भी हर समय रोहन ही दिखाई देता है। रोहन से अलग रहकर जीने का कोई अर्थ नहीं है। जिंदा रहकर नहीं मिल सकते है तो साथ मरकर तो मिल जाएंगे। इसलिए अपनी मर्जी से जान दे रहे हैं। हमारी मौत का कोई जिम्मेदार नहीं है।

यह भी पढ़ेंं- Meerut: छेड़छाड़ से परेशान किशोरी ने पुलिस थाने में जहर खाकर किया सुसाइड

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned