VIDEO: मुस्लिम नेता ने कहा- CAA पर लोगों को बहका रहे विपक्षी दल, किसी की नागरिकता छीनने का सवाल ही नहीं

Highlights

  • ऑल इंडिया माइनॉरिटी बोर्ड के चेयरमैन सय्यद गयूर उल हसन रिज़वी ने कहा
  • कहा- मुस्लिम किसी के बहकावे में न आएं, विपक्षी दल की यह वोट की राजनीति
  • चेयरमैन ने कहा- सीएए कानून समझने की जरूरत, नहीं पहुंचेगा किसी को नुकसान

 

मेरठ। CAA को लेकर इन दिनों देश-प्रदेश की राजनीति गर्म है। मेरठ पहुंचे आल इंडिया माइनॉरिटी बोर्ड के चेयरमैन सय्यद गयूर उल हसन रिज़वी ने सीएए को लेकर मुस्लिमों (Muslims) की भ्रांतियों को तोडऩे का काम किया। उन्होंने कहा कि सीएए को लेकर किसी भी भारतीय नागरिक (Indian Citizenship) की नागरिकता पर कोई खतरा नहीं है।

यह भी पढ़ेंः निर्भया के चारों दरिंदों की फांसी के लिए पवन जल्लाद तैयार, दो दिन में आ सकता है बुलावा

उन्होंने कहा कि हमारे जो तीन पड़ोसी मुल्क हैं उनमें धर्म के नाम पर वहां के अल्पसंख्यकों को प्रताडि़त किया जा रहा है। ये कानून वहां से आने वाले लोगों के लिए है। वहां के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। इससे किसी की नागरिकता छीनी नहीं जाएगी। हिन्दुस्तान में रहने वाले की नागरिकता लेने का कोई सवाल ही नहीं होता। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ राजनीतिक दलों ने धर्म विशेष के लोगों को बहकाया है। किसी भी धर्म के लोगों की नागरिकता जाने वाली नहीं है। सीएए के कानून को लोगों को समझना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः Weather Alert: अगले 48 घंटे में भारी बारिश और ओलावृष्टि के आसार, घने कोहरे के कारण बढ़ी ठिठुरन

उन्होंने कहा कि राजनैतिक दलों को वोट दिखाई देती हैं। सीएए पर इन्हीं दलों ने लोगों को भड़काया जिसके कारण लोगों की जान गई और हिंसा हुई। कांग्रेस और अन्य दलों की राजनीति लोगों के खून पर हो रही है। उन्होंने विपक्ष और गांधी परिवार पर भी निशाना साधा। आल इंडिया माइनारिटी बोर्ड के चेयरमैन सययद गयूर उल हसन रिजवी ने कहा कि जेएनयू में हुई हिंसा पर जांच चल रही है जो कोई भी जांच में दोषी मिला उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसी तरह से एएमयू में हिंसा भड़काने का काम किया गया है।

sanjay sharma Desk/Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned