Meerut: लैब टेक्नीशियन से कोरोना के सैंपल छीन पेड़ पर चढ़ा बंदर चबा गया सारी किट, लोगों में दहशत

Highlights

- मेरठ मेडिकल काॅलेज की घटना

- सैंपल कलेक्शन किट छीनकर पेड़ पर चढ़ा बंदर

- कोरोना सैंपल चबाने से लोगों में दहशत

By: lokesh verma

Published: 30 May 2020, 09:09 AM IST

मेरठ. जिले के मेडिकल काॅलेज में बंदरों के आतंक की घटनाएं आए दिन होती रहती हैं, लेकिन कोरोना महामारी के बीच बंदरों ने ऐसी हरकत की है, जिससे सभी दहशत में हैं। बताया जा रहा है कि एकक लैब ब्वॉय कोरोना मरीजों के सैंपल लेकर जा रहा था। इसी बीच बंदरों ने झपट्‌टा मारकर उसके हाथों से सैंपल किट छीन ली। बंदर सैंपल कलेक्शन किट लेकर पेड़ पर चढ़ बैठा और उनको फाड़कर खा गया। बताया जा रहा है कि उसमें तीन मरीजों के सैंपल थे। हालांकि बाद में मरीजों के सैंपल दोबारा ले लिए गए, लेकिन इससे लोगों में दहशत व्याप्त है।

यह भी पढ़ें- सावधान: लॉकडाउन में छूट मिलते ही बढ़ने लगे कोरोना मरीज, मुजफ्फरनगर में 12 ताे सहारनपुर में 8 नए मामले आए

दरअसल, यह घटना दो दिन पहले की बताई जा रही है, जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में बंदर पेड़ पर बैठकर सैंपल कलेक्शन किट को चबा रहा है। इस बारे में मेडिकल के प्राचार्य डॉ. एसके गर्ग का कहना है कि उनके पास भी इस तरह का वीडियो आया था, जिसमें कुछ स्पष्ट नहीं हो रहा है। उन्होंने पड़ताल के लिए प्रमुख अधीक्षक डॉ. धीरज बालियान को इसे भेजा था। वहीं डॉ. धीरज बालियान का कहना है कि लैब टेक्नीशियन ने उन्हें यह जानकारी दी थी कि बंदर ने स्वास्थ्यकर्मियों से सैंपल छीनकर ले गए थे। उन्होंने किट फाड़कर सैंपल नष्ट कर दिए थे। बाद में दोबारा मरीजों के सैंपल लिए गए।

बता दे कि मेडिकल काॅलेज में बंदरों का जबरदस्त आतंक है। बंदर मेडिकल वेस्ट भी नहीं छोड़ते उसको भी खा जाते हैं। इसके लिए कई बार मेडिकल प्राचार्य ने प्रशासन और नगर निगम के अलावा वन विभाग को भी लिखा, लेकिन फिर भी कोई सुनवाई नहीं हुई। ये बंदर इतने खतरनाक और खूंखार हैं कि कई बार लोगों को काट भी चुके हैं। बंदरों द्वारा कोरोना सैंपल कलेक्शन किट को इस तरह से छीनकर ले जाना मेडिकल प्रशासन की गंभीर लापरवाही का नतीजा माना जा रहा है। सबसे बड़ा सवाल है कि उन सैंपल के संपर्क में कोई व्यक्ति नहीं आया है। वहीं लोगों में यह भी चर्चा है कि कहीं बंदर तो संक्रमित नहीं हो जाएंगे। अगर ऐसा हुआ तो परिणाम गंभीर हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें- जेल में बंद जमातियों से खैरियत पूछने सहारनपुर पहुंचे किर्गिस्तान के एंबेसडर व फर्स्ट सेक्रेटरी

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned