मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद फतेहगढ़ जेल से वापस बागपत पहुंचा कुख्यात सुनील राठी, जानिए वजह

मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद फतेहगढ़ जेल से वापस बागपत पहुंचा कुख्यात सुनील राठी, जानिए वजह

Rahul Chauhan | Publish: Aug, 18 2018 01:09:29 PM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

एक बार फिर कुख्यात सुनील राठी बागपत आ पहुंचा है। जिससे जिले में खलबली मची हुई है।

बागपत। पुर्वांचल के माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद कुख्यात सुनील राठी को फतेहगढ़ जेल भेज दिया गया था। वहीं अब एक बार फिर कुख्यात सुनील राठी बागपत आ पहुंचा है। जिससे जिले में खलबली मची हुई है। दरअसल, शनिवार को सुनील राठी को एक मामले में पेशी के लिए बागपत कोर्ट लाया गया। इस दौरान भारी सुरक्षा बल भी मौके पर तैनात रहा।

यह भी पढ़ें : मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में बड़ा खुलासा, जांच में इन पांच अधिकारियों के नाम आए सामने

सुनील राठी को भारी सुरक्षा में गैंगस्टर अमित भूरा फरारी मामले में एडीदे तृतीय कोर्ट लाया गया। वहीं इससे पहले 14 अगस्त को इस मामले में राठी की पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की गई थी। बागपत पहुंचे सुनील राठी से जब मुन्ना बजरंगी हत्याकांड के बारे में सवाल किया गया तो वह चुप्पी साधे रहे। वहीं अधिकारियों का कहना है कि राठी को पेशी के लिए बागपत लाया गया है। इसके बाद उन्हें वापस फतेहगढ़ जेल भेज दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : सात समंदर पार तक फैला है सुनील राठी का गिरोह, 17 साल में इतनी जेलों में रह चुका बंद!

बता दें कि अमित भूरा बागपत से उस समय फरार हो गया था जब देहरादुन पुलिस उसे लेकर यहां पहुंची थी। इस दौरान दिल्ली यमुनौत्री मार्ग पर ज्योति कांन्वेट हाईस्कूल के पास स्कार्पियों सवार बदमाशों ने पुलिस के ऊपर मिर्ची स्प्रे कर अमित भूरा को छुडवा लिया था और दो एके 47 व एक कारर्बाइन लूटकर फरार हो गए थे। जांच में सामने आया था कि इस फरारी के पीछे सुनील राठी का हाथ है। जिसके बाद इस मामले में 21 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। इस मामले में सुनील राठी की मां राजबाला के साथ दिल्ली के पूर्व विधायक रामवीर शौकीन भी शामिल थे। जिनका मुकदमा अदालत में विचाराधीन है।

यह भी पढ़ें : मुन्ना बजरंगी हत्याकांड मामले में पुलिस को मिले अहम फोटो, पूर्वांचल से पश्चिप यूपी तक जुड़ रहे तार

उल्लेखनीय है कि गत 9 जुलाई को बागपत जेल में माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या का जुर्म सुनील राठी ने अपने पर लिया है। जिसके बाद सुनील राठी को फतेहगढ़ जेल में शिफ्ट किया गया। वहीं जांच में 6 अधिकारियों के नाम सामने आए हैं जिनसे जवाब मांगा गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned