समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाने के बाद शिवपाल ने यहां से की रैली की शुरुआत, ये दिग्गज नेता होंगे शामिल

समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाने के बाद शिवपाल ने यहां से की रैली की शुरुआत, ये दिग्गज नेता होंगे शामिल

Nitin Sharma | Publish: Aug, 31 2018 11:34:06 AM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

पश्चिम उत्तर प्रदेश से लेकर पूर्वी के जिलों में कर सकते है रैली

मेरठ।सपा में चाचा भतीजों की लंबी रार के बाद चाचा शिवपाल ने अपना समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन करने के बाद ही लोकसभा चुनाव के लिए तैयारी शुरू कर दी है।इसके लिए शिवपाल यादव ने अपने बुलंद इरादों को जताने के उद्देश्य से पश्चिम यूपी को चुना है।यहां यूपी के पश्चिम जिले में मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना कस्बे में एक रैली आयोजन करने का प्लान कर लिया है।इतना ही नहीं उनकी इस रैली में पश्चिम से लेकर पूर्वी यूपी के कर्इ दिग्गज नेता भी शामिल हो सकते है।वहीं भारी भीड़ जुटने का दावा किया जा रहा है।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें-आजम खान के खिलाफ यह काम करने रामपुर पहुंचे अमर सिंह के समर्थक

यहां से करेंगे रैली, इतने लोग होंगे शामिल

शिवपाल यादव ने अपने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के तहत शुक्रवार को पहली बार इस कड़ी में उन्होंने मुजफ्फरनगर के बुढाना कस्बे में एक रैली का आयोजन किया है।इस रैली में शिवपाल यादव के साथ कल्कि पीठ के आचार्या प्रमोद कृष्णम भी भाग ले रहे है।रैली में करीब एक लाख लोगों की भीड़ जुटने का दावा किया जा रहा है।इसके साथ ही कर्इ दिग्गज नेता भी इसमें शामिल हो सकतेक है।अभी रैली बुढाना कस्बे के सब्जी मैदान में होने जा रही है। रैली की सभी तैयारियां भी पूरी कर ली गई है।

यह भी पढ़ें-मायावती के इस करीबी ने थामा आम आदमी पार्टी का हाथ, बसपा को उठाना पड़ सकता है बड़ा नुकसान

सितंबर माह में हर जिले में होगा सम्मेलन

मीडिया रिपोर्ट की माने तो बुढ़ाना के बाद पश्चिम यूपी के हर जिले में ऐसे सम्मेलन होंगे। सितंबर में मोर्चा की तरफ से राष्ट्रीय सम्मेलन गाजियाबाद में होगा। उन्होंने बताया कि मुलायम सिंह यादव की तस्वीरों को सम्मेलन के सभी पोस्टर लगाया जाएगा।राजनीति विशेषज्ञों की मानें तो शिवपाल के अलग होने से समाजवादी पर असर पड़ना तय है। इसी के साथ अमर सिंह से शिवपाल की नजदीकी किसी से छिपी नहीं है।वेस्ट यूपी में कई ठाकुर बाहुल्य इलाके भी हैं।राजनीति की जानकारी रखने वालों का मानना है कि अगर शिवपाल और अमर सिंह की जुगलबंदी हो जाती है।उन्हें इसका लाभ मिल सकता है।

यह भी पढ़ें-सपा से निकाला गया यह पूर्व बाहुबली विधायक अपने भार्इ के साथ अब शिवपाल की पार्टी में हो सकता है शामिल!

घोषणा के बाद करेंगे पहली सार्वजनिक रैली, यहां से गुजरेंगे शिवपाल

मोर्चे घोषणा के बाद शिवपाल यादव का पहली सार्वजनिक रैली है। इसलिए इसे अहम माना जा रहा है। शिवपाल यादव बुढाना रैली के माध्यम से समाजवादी पार्टी में अपने को दरकिनार कर दिए गए का दर्द भी बयां करेंगे। इस रैली में उनके समाजवादी सेक्युलर मोर्चा की आगे की रणनीति भी बताई जाएगी।बता दें कि यादव परिवार के विवाद की जड़ में जहां वेस्ट यूपी का खासा रोल रहा था।वहीं अब चाचा-भतीजे की राहे जुदा होने के बाद शिवपाल ने अपने सेक्युलर मोर्चा की जड़ों को पश्चिम उत्तर प्रदेश से ही गहरी करने और मजबूत करने का इरादा किया है। इसकी शुरूआत बुढ़ाना में राष्ट्रीय एकता सम्मेलन की शुरुआत करेगा।इस सम्मेलन में खुद शिवपाल और कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम भी मौजूद रहेंगे।मोर्चे के वेस्ट यूपी प्रभारी डॉक्टर मरगूब त्यागी ने बताया कि इस रैली के लिए बुढ़ाना को काफी सोच विचारकर चुना गया है।2013 में मुजफ्फरनगर दंगों के बाद पश्चिम के कई जिलों में नफरत की फसल लहलहा रही है।उस नफरत की फसल को मोर्चा राष्ट्रीय एकता सम्मेलन के जरिए उखाड़ फेकने के लिए ही बुढाना में रैली का आयोजन रखा गया है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned