तीरथ सिंह के रिक्शा चालक पिता बोले- मेरे बेटे को फंसाया गया, वह आतंकी नहीं हो सकता

Highlights

- दिन में रिक्शा और रात में स्कूल की चौकीदारी करने वाले आतंकी तीरथ सिंह के पिता ने उठाए सवाल
- कहा- बदनामी के डर से स्कूल वालों ने चौकीदारी से भी निकाला

By: lokesh verma

Published: 01 Jun 2020, 12:54 PM IST

केपी त्रिपाठी/मेरठ. खालिस्तानी आतंकी तीरथ सिंह के पकड़े जाने के बाद उसके रिक्शा चालक पिता अब सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि मेरा बेटा आतंकी नहीं हो सकता है। उसे बेवजह पुलिस परेशान कर रही है। उसके पिता का कहना है कि तीरथ कभी पाकिस्तान गया ही नहीं। पंजाब पुलिस और एटीएस बेवजह उनके बेटे को परेशान कर रही है। उधर, पंजाब पुलिस और एटीएस ने उसके घर को खंगाला है, लेकिन ऐसे कोई भी कागजात नहीं मिले।

यह भी पढ़ें- कोरोना से खुद को बचाने के लिए च्यवनप्राश, शहद, नीम और गिलोय खा रहे पुलिसकर्मी

दरअसल, तीरथ सिंह के पिता अजीत सिंह रिक्शा चलाते हैं और मेरठ के खालसा इंटर काॅलेज में रात के समय चौकीदारी करते हैं। बेटे के पकड़े जाने के बाद स्कूल प्रबंधन ने अजित सिंह से घर खाली करा लिया है और उनको समान समेत बाहर निकाल दिया है। बता दें कि मेरठ के सोतीगंज में तीरथ सिंह मैकेनिक की दुकान पर काम करता था। यूपी एटीएस और पंजाब पुलिस ने आतंकी तीरथ सिंह को शनिवार को गिरफ्तार किया था। थापर नगर इलाके से गिरफ्तारी के दौरान उसके कमरे से भिडंरावाला के पोस्टर भी बरामद किए गए थे। यूपी एटीएस और पंजाब पुलिस को मिले कई अहम सुराग मिले हैं।
तीरथ सिंह के पिता ने कहा कि उनका बेटा एक बार पंजाब में दरबार साहब में मत्था टेकने गया था। उसके बाद से वह कभी पंजाबनहीं गया। अजीत सिंह ने बताया कि पुलिस ने पूरा घर तलाश लिया, लेकिन सिर्फ भिडरावाला की फोटो और तीरथ के मोबाइल के अलावा कुछ नहीं मिला। पिता ने कहा कि उनको स्कूल वालों ने भी निकाल दिया है। स्कूल वाले कहते हैं कि उनकी बदनामी होती है। आतंकी के बाप को वो अपने यहां पर नहीं रख सकते। अजीत सिंह ने कहा कि उससे उनकी और परिवार की बहुत बदनामी हो रही है।

मेरठी नेटवर्क की सुराग में खुफिया एजेंसियां

मेरठ से पकड़े गए खालिस्तान आतंकी तीरथ सिंह के मेरठी नेटवर्क की सुराग में खुफिया जांच एजेंसियां जुटी हुई हैं। आतंकी के मेरठ रहते उसके दिल्ली-पंजाब और विदेश में रहने वाले संपर्क के लोग रडार पर हैं। उसकी कॉल डिटेल से लेकर सोशल मीडिया पर उसकी सक्रियता को खंगाला जा रहा है। वहीं, हस्तिनापुर में भी कुछ लोगों पर नजर रखी जा रही है। पंजाब पुलिस ने आतंकी को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने चार दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया गया है। इस दौरान उससे खालिस्तान मूवमेंट से जुड़े नेटवर्क के बारे में जानकारी एकत्र की जाएगी। उनके काम करने के तरीके के बारे में भी पूछा जाएगा। शुरुआती जांच में यह भी पता चला है कि वह अकसर पंजाब जाता रहता था। तीरथ सिंह ने खुफिया एजेंसियों को काफी पुख्ता जानकारियां उपलब्ध कराई हैं। मेरठ में उसके साथ जुड़े लोग भूमिगत हो गए हैंं, जिनकी तलाश में स्थानीय पुलिस को लगाया गया है।

यह भी पढ़ें- नोएडा पुलिस का मिशन एनकाउंटर जारी, मुठभेड़ में 25 हजार के इनामी को गोली मारकर किया पस्त

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned