किन्नर की दरियादिली देखकर सभी रह गए अवाक, पूरी खबर पढ़े बिना नहीं रह पाएंगे आप

किन्नर की दरियादिली देखकर सभी रह गए अवाक, पूरी खबर पढ़े  बिना नहीं रह पाएंगे आप

Iftekhar Ahmed | Publish: Oct, 13 2018 07:11:59 PM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

किन्नरों के फैसले का पुलिस ने भी किया सम्मान

मेरठ. आपने किन्नरों को अक्सर शुभ अवसरों पर गाने के अलावा उन्हें बस और ट्रेन में रुपये मांगते देखा होगा। लेकिन किन्नर कितने दरिया दिल होते हैं, यह देखकर मेरठ से बिजनौर तक की पुलिस हैरान हो गई। खुद रस्सी का सांप बनाने वाली पुलिस को किन्नर से ऐसी उम्मीद नहीं थी। वह भी उसके लिए, जो किन्नर का लाखों का जेवर और नकदी लेकर फरार हो गया हो। किन्नर मंदाकिनी ने साथी किन्नर के लिए दरियादिली दिखाते हुए उसको जेल जाने से बचा लिया।

यह भी पढ़ेंः बीच सड़क पर नमाज पढ़ने वाले शख्स को लेकर देवबन्दी आलिम ने दिया चौंकाने वाला बयान

गौरतलब है कि बिजनौर से गुरु किन्नर के 17 लाख के जेवर और दो लाख रुपये नगद लेकर भागे किन्नर को मेरठ पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस से मिली सूचना पर बिजनौर से आए किन्नरों ने सारा सामान बरामद हो जाने पर राहत की सांस ली और आरोपी किन्नर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने की बात कहकर उसको छोड़ने के लिए बोल दिया।

यह भी पढ़ें- शिवपाल यादव को योगी सरकार से बड़ा तोहफा मिलने पर लोगों का उठा विश्वास, कह दी ये बड़ी बात

मेरठ लिसाडी गेट क्षेत्र का रहने वाला किन्नर बिजनौर में मंदाकिनी किन्नर के पास रहकर काम करता था। उसने मंदाकिनी को अपना किन्नर गुरू मान लिया था। मंदाकिनी गुरू ने उस पर भरोसा किया और उसको अपने घर की पूरी जिम्मेदारी सौंप दी। मेरठ का किन्नर तीन दिन पहले बिजनौर से मंदाकिनी की जीवनभर की कमाई लेकर रफूचक्कर हो गया। इसकी तहरीर मंदाकिनी ने बिजनौर कोतवाली में दी। बिजनौर कोतवाली पुलिस ने थाना लिसाड़ी गेट पुलिस को इसकी सूचना दी। लिसाड़ी गेट पुलिस ने शुक्रवार देर रात आरोपित के घर दबिश दी, लेकिन वह नहीं मिला। कुछ ही देर बाद मुखबिर की सूचना पर आरोपित को सोहराब गेट बस अड्डे के पास से सामान सहित पकड़ लिया गया।

यह भी पढ़ेंः गैंगरेप के बाद वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने वाले 5 आरोपियों को लड़की ने ऐसे सिखाया सबक, देखें VIDEO

बिजनौर से कोतवाली के सिपाही के साथ किन्नरों का दल शनिवार सुबह लिसाड़ी गेट थाना पहुंचे। यहां किन्नर मंदाकिनी ने पुलिस को बताया कि आरोपित उसके घर से 52 तोले सोने के साथ दो लाख नकद लेकर भागा है। पुलिस ने सारा माल बरामद कर किन्नरों को सौंप दिया। लिसाड़ी गेट इंस्पेक्टर रघुराज सिंह ने बताया कि मंदाकिनी ने बिजनौर कोतावली में तहरीर दी थी। वहां से एक सिपाही मेरठ आया था। किन्नरों ने आरोपी किन्नर के खिलाफ किसी भी कार्रवाई से इंकार कर दिया। इसके बाद पुलिस ने चोरी का सामान और आरोपी को साथी किन्नरों को सौंप दिया।

Ad Block is Banned