ग्रामीण क्षेत्रों में शराब की दुकानें खुलते ही पहुंच गए शहर के लोग भी, लंबी लाइनें लगने पर बिगड़ी स्थिति

Highlights

  • मेरठ जनपद की ग्रामीण क्षेत्र की 137 दुकानों को मिली अनुमति
  • दुकानें खुलते ही शौकीनों के सब्र का बांधा टूटा, लगी लंबी लाइनें
  • सोशल डिस्टेंस को रखा ताक पर, कई स्थानों पर पुलिस ने खदेड़ा

 

By: sanjay sharma

Published: 05 May 2020, 12:06 PM IST

मेरठ। जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में शराब की दुकानें क्या खुली, शहर के लोगों का भी सब्र का बांध टूट पड़ा। शराब के शौकीन शहर से ग्रामीण क्षेत्रों में सुबह से ही जाकर लाइनों में लग गए। इस दौरान सड़क के किनारे और ग्रामीण कस्बों में शराब की दुकानों के खुलने से पहले ही लंबी लाइनें लग गई। लॉकडाउन के तीसरे चरण में डीएम अनिल धींगरा के आदेश पर जनपद में देहात क्षेत्र की 137 शराब की दुकानों को खोला गया। इनमें 80 देसी शराब की, 26 अंग्रेजी शराब की और 31 बीयर की दुकानें है।

यह भी पढ़ेंः मेरठ में संक्रमितों की सबसे बड़ी कोरोना चेन मिली, इसके बाद इतनी बढ़ा दी गई सख्ती

जिला आबकारी अधिकारी आलोक कुमार ने बताया कि दुकानों में और बढ़ोतरी हो सकती है। जिन दुकानों को खोला गया है, वे देहात क्षेत्र की हैं। शहर क्षेत्र की दुकानें अभी बंद रहेगी। शराब की दुकान खुलने के बाद किसी तरह की कोई अव्यवस्था न हो इसके लिए पहले से तैयारी की जा चुकी है। शराब की दुकान के बाहर सोशल डिस्टेंस का पूरा पालन हो इसके आदेश दिए जा चुके थे। वहीं सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस की मदद ली गई।

यह भी पढ़ेंः मेहमानों को कोरोना संक्रमण से बचाने केे लिए ग्रामीणों ने अपनाया ये तरीका, सोशल डिस्टेंस का रख रहे ख्याल

शराब की दुकानें खुलीं तो लोग इस कदर टूट पड़े, जिससे कोरोना वायरस के फैलने की आशंका पैदा हो गई है। इस दौरान जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों दौराला, लावड, खरखौदा, सिवाल, सिसौली आदि क्षेत्रों में शराब की दुकानों पर लंबी-लंबी लाइनें देखने को मिली। लोग सुबह से ही शराब की दुकानों के बाहर एकत्र होने शुरू गए। लोगों ने सरकारी आदेश की जमकर धज्जियां उड़ाई। इस दौरान कई स्थानों पर पुलिस को लाठियां फटकारनी पड़ी।

Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned