भारी बारिश के कारण Delhi की सड़कें बेहाल, महज 3 दिनों में 7 जगहों पर रोड का हिस्सा ढहा

  • Delhi: पिछले तीन दिनों में देश की राष्ट्रीय राजधानी में जमकर हुई बारिश ( Heavy Rain )
  • 3 दिनों में सात जगहों पर गड्ढे, यातायात प्रभावित
  • PWD मंत्री ने कुछ भी टिप्पणी करने से किया इनकार

नई दिल्ली। एक तरफ पूरा देश कोरोना वायरस ( coronavirus ) संकट से जूझ रहा है। वहीं, दूसरी ओर देश के कई राज्यों में भारी बारिश ( Heavy Rain ) के कारण जनजीवन बेहाल है। वहीं, पिछले कुछ दिनों से देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ( Rainfall In Delhi ) में अच्छी खासी बारिश हुई है। लेकिन, तीन दिनों की बारिश में दिल्ली की सड़कों का हाल देखकर आपको भी आश्चर्य होगा। क्योंकि, कई जगहों पर रोड का काफी बड़ा हिस्सा ढह गया है। इसके कारण यातायात भी प्रभावित हुए हैं। हालांकि, धीरे-धीरे यातायात को शुरू किया जा रहा है। लेकिन, खतरा अभी भी बना हुआ है।

बारिश के कारण दिल्ली की सड़कों का हाल

दरअसल, पिछले तीन दिनों में देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ( Heavy Rain in Delhi ) में ठीक-ठाक बारिश हुई है। लेकिन, महज तीन दिनों की भारी बारिश ने शहर में कम से कम सात प्रमुख सड़कों के सड़कों पर गड्ढा ( Cave ) हो गया है। बताया जा रहा है कि पहली बारिश के कारण कई जगहों पर यातायात प्रभावित हो गया था, जिसे अब धीरे-धीरे शुरू कर दिया गया है। सेन्ट्रल ( Central Delhi ) और दक्षिण दिल्ली ( South Delhi ) में दो महत्वपूर्ण हिस्सों में सड़कों के कुछ हिस्सों के टूटने के एक दिन बाद ही अशोका रोड ( Ashoka Road ) और महिपालपुर ( Mahipalpur ) बाईपास-NH-48 का एक और हिस्सा ढह गया। वहीं, महिपालपुर और राजौरी गार्डन मार्केट ( Rajouri Garden Market ) के पास सर्विस लेन ( Service Lane ) का एक हिस्सा गुरुवार को गिर गया।

कई जगहों पर सड़कों पर गड्ढे

दिल्ली यातायात पुलिस ( Delhi Traffic Police ) के अधिकारियों का कहना है कि कि महिपालपुर मार्ग ( Mahipalpur Road ) पर दो हिस्सों के प्रभावित होने के कारण गुरुवार को यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ( NHAI) और केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ( CPWD ) ने महिपालपुर बाईपास की ओर NH-48 जो वसंत कुंज से हवाई अड्डे ( Airport ) की ओर आता है, उसका रूट डायवर्ट कर दिया गया था। वहीं, पीडब्ल्यूडी मंत्री सत्येंद्र जैन ( Satyendra Jain ) ने इस पूरे मामले पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। वहीं, सेन्ट्रल और पूर्वी दिल्ली के बीच मेन सड़क पर मंगलवार को गड्ढा हो गया था, जिसके कारण भैरों मार्ग पर और आसपास के इलाकों में यातायात बंद हो गया। मजबूरन ट्रैफिक पुलिस को रूट डायवर्ट करना पड़ा। मंगलवार को ही सेन्ट्रल दिल्ली के आईटीओ ( ITO ) और पश्चिमी दिल्ली के नवादा में भी इस तरह की घटनाएं सामने आई हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार से लेकर अब तक यानी तीन दिनों में दिल्ली में 122 मिमी बारिश दर्ज की गई है। लेकिन, सवाल ये उठ रहे हैं कि महज तीन दिनों की बारिश में दिल्ली की सड़कों पर इस तरह के गड्ढे क्यों हो रहे हैं।

'हर साल यही होता है हाल'

शहर की सड़क-संचालन एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी, सार्वजनिक निर्माण विभाग (PWD), दिल्ली विकास प्राधिकरण (DDA), भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) और चार नगर पालिकाएं ( पूर्व, उत्तर और दक्षिण दिल्ली नगर निगम और नई दिल्ली नगरपालिका परिषद) का कहना है कि हर मानसून में ऐसा ही हाल हो जाता है। अधिकारी सड़कों के नीचे बने सीवर पाइपलाइनों को इसके लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि निर्माण के दौरान घटिया सामग्री के इस्तेमाल से सड़कों का ऐसा हाल हो रहा है। इतना ही नहीं बारिश होते ही दिल्ली में कई जगहों पर जलजमाव की खबरे सामने आती रहती हैं।

Show More
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned