दिल्ली पर शाह की मीटिंग खत्म, 18000 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था

  • उप-राज्यपाल अनिल बैजल ( LG Anil Baijal ) , मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( CM Arvind Kejriwal ) संग की दिल्ली के हालात ( Coronavirus In Delhi ) पर चर्चा।
  • गृह मंत्री अमित शाह ( Amit Shah ) की हाई लेवल मीटिंग में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ( Health Minister Harsh Vardhan ) भी रहे मौजूद।
  • रेलवे कोच, कॉन्टैक्ट मैपिंग, कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने, आरोग्य सेतु ऐप ( Aarogya Setu App ) का इस्तेमाल समेत स्वयंसेवियों की मदद लेने पर भी लिए गए फैसले।

 

नई दिल्ली। राजधानी में कोरोना वायरस महामारी ( Coronavirus In Delhi ) के बिगड़ते हालात देखते हुए गृह मंत्री अमित शाह ( Amit Shah ) ने रविवार को एक हाई लेवल बैठक की। इसमें केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल ( LG Anil Baijal ) और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( CM Arvind Kejriwal ) समेत तमाम महत्वपूर्ण लोग मौजूद रहे। इस दौरान दिल्ली को 8000 बेड की मदद देने के लिए 500 कोरोना रेलवे कोच देने की घोषणा की गई, जबकि अनिल बैजल ने छतरपुर में राधास्वामी सत्संग ब्यास का निरीक्षण कर 10,000 बेड की व्यवस्था तैयार करने को हरी झंडी दी।

बैठक में की गई चर्चा को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर जानकारी दी। उन्होंने लिखा, देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मोदी सरकार कटिबद्ध है। आज स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर दिल्ली की जनता की सुरक्षा व इस संक्रमण को रोकने के लिए कई महत्तवपूर्ण निर्णय लिए।"

COVID-19: मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी की बैठक से पहले केंद्र सरकार ने बनाई टॉप टीम

उन्होंने बताया कि दिल्ली में कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए बेड की कमी को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने तुरंत 500 रेलवे कोच दिल्ली को देने का निर्णय लिया है। इन रेलवे कोच से न सिर्फ दिल्ली में 8000 बेड बढ़ेंगे बल्कि यह कोच कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए सभी सुविधाओं से लैस होंगे। वहीं, छतरपुर स्थित राधास्वामी सत्संग ब्यास में कोरोना मरीजों के लिए 10 हजार बेड का केंद्र बनाने के लिए उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने निरीक्षण किया।

इतना ही नहीं दिल्ली के कंटेनमेंट जोन में कॉन्टैक्ट मैपिंग अच्छे से हो पाए इसके लिए घर-घर जाकर हर एक व्यक्ति का व्यापक स्वास्थ्य सर्वे किया जाएगा, जिसकी रिपोर्ट 1 सप्ताह में आ जाएगी। साथ ही अच्छे से मॉनिटरिंग हो इसके लिए वहां हर व्यक्ति के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप ( Aarogya Setu App ) डाउनलोड करवाया जाएगा।

मीटिंग की प्रमुख बातें

  • दिल्ली में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अगले दो दिन में कोरोना की टेस्टिंग को बढाकर दो गुना किया जाएगा और 6 दिन बाद टेस्टिंग को बढाकर तीन गुना कर दिया जाएगा। साथ ही कुछ दिन के बाद कंटेनमेंट जोन में हर पोलिंग स्टेशन पर टेस्टिंग की व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी।
  • दिल्ली के छोटे अस्पतालों तक कोरोना के लिए सही जानकारी व दिशा निर्देश देने के लिए मोदी सरकार ने एम्स में टेलीफोनिक गाइडेंस के लिए वरिष्ठ डॉक्टर्स की एक कमेटी बनाने का निर्णय लिया है। जिससे नीचे तक सर्वश्रेष्ठ प्रणालियों का संचार किया जा सके। इसका हेल्पलाइन नं. कल जारी हो जाएगा।
  • दिल्ली के निजी अस्पताओं में कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए निजी अस्पतालों के कोरोना बेड में से 60 फीसदी बेड कम रेट में उपलब्ध कराने, कोरोना उपचार व कोरोना की टेस्टिंग के रेट तय करने के लिए डॉ. पॉल की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है जो कल तक अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।
  • कोरोना से भारत पूरी मजबूती से लड़ रहा है और इस संक्रमण से अपनी जान गंवाने वाले लोगों के लिए सरकार दुखी भी है और उनके परिजनों के प्रति संवेदनशील भी है। सरकार ने अंतिम संस्कार के लिए नई गाइडलाइन्स जारी करने का निर्णय लिया है, जिससे अंतिम संस्कार की प्रतीक्षा अवधि कम कम हो जाएगी।
  • मोदी जी के नेतृत्व में देश कोरोना से पूरी सतर्कता और सहभागिता के साथ लड़ा है। कई स्वयंसेवी संस्थाएं बहुत उत्कृष्ट कार्य कर रही हैं। इस क्रम में सरकार ने स्काउट गाइड, एनसीसी, एनएसएस व अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं को इस महामारी में स्वास्थ्य सेवाओं में वालंटियर के नाते जोड़ने का निर्णय लिया है।
  • केंद्र सरकार ने दिल्ली में कोरोना संक्रमण को रोकने व इससे मजबूती से लड़ने के लिए दिल्ली सरकार को भारत सरकार के और पांच वरिष्ठ अधिकारी देने का निर्णय किया है।
  • इन सभी प्रमुखों निर्णयों के साथ आज की बैठक में कई और निर्णय लिए गए। साथ ही केंद्र व दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग, सभी सम्बंधित विभाग व् एक्सपर्ट्स को आज किए गए सभी निर्णय नीचे तक अच्छे से अमल हो यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।
  • भारत सरकार ने दिल्ली सरकार को इस महामारी से लड़ने के लिए आवश्यक संसाधन जैसे ऑक्सीजन सिलिंडर, वेंटिलेटर, पल्स ऑक्सीमीटर व् अन्य सभी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पूर्णतः आश्वस्त किया है।

दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे मामले

दरअसल, दिल्ली में रोजाना बढ़ते कोरोना वायरस के मामले अब 2000 का आंकड़ा पार कर चुके हैं। शनिवार को भी लगातार दूसरे दिन राजधानी में 2134 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इसके साथ ही राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के कुल केस की संख्या 38,958 पहुंच गई है। महाराष्ट्र (1,04,568) और तमिलनाडु (42,687) के बाद दिल्ली संक्रमण के मामले में देश में तीसरे नंबर पर है। राजधानी में फिलहाल एक्टिव केस की संख्या 22,742 है, जबकि 14,945 रिकवर हो चुके हैं। वहीं, 1,271 लोगों ने अब तक इस महामारी से दम ( Delhi Coronavirus Death ) तोड़ दिया है।

Amit Shah
Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned