Army Recruitment Scam: रिश्वत देकर सेना में भर्ती अधिकारियों-कैडेटों के खिलाफ आर्मी करेगी कड़ी कार्रवाई

Army Recruitment Scam: आर्मी ने ये स्पष्ट कर दिया है कि उन सभी अधिकारियों और कैटेडों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा जो रिश्वत देकर सेना में शामिल हुए हैं, चाहे वह पहले से ही कमीशन किया गया हो या प्रशिक्षण से गुजर रहा हो

नई दिल्ली। तमाम तरह की नौकरियों में भर्ती घोटाले की खबर सामने आती रहती है और अब सेना में भर्ती घोटाले की खबर सामने आने के बाद से चिंताएं काफी बढ़ गई है। ऐसे में सेना में भर्ती घोटाला सामने आने के बाद से आर्मी बहुत जल्द एक बड़ा फैसला लेने वाली है।

सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है, आर्मी ने ये स्पष्ट कर दिया है कि रिश्वत देकर सेना में भर्ती हुए अधिकारियों व कैडेटों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। आर्मी ने फैसला किया है कि उन सभी अधिकारियों और कैटेडों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा जो रिश्वत देकर सेना में शामिल हुए हैं।

यह भी पढ़ें:- सेना भर्ती घोटाला: सीबीआई की बड़ी कार्रवाई, 17 आर्मी ऑफिसर्स पर केस दर्ज

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सेना ने कहा है कि ऐसे लोग जो पहले से ही अधिकारी बन चुके हैं या फिर विभिन्न अकादमियों में प्रशिक्षण ले रहे हैं, उन सभी को बाहर किया जाएगा। सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि इस पूरे मामले की जांच सीबीआई कर रही है और सेना के अधिकारी भ्रष्टाचार के इस मामले में अधिक जानकारी हासिल करने के लिए जांच में सक्रिय रूप से शामिल हैं।

भ्रष्टाचार में शामिल अधिकारियों पर होगी कड़ी कार्रवाई

सेना के शीर्ष सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि सेना भर्ती घोटाले में शुरू में पकड़े गए महिला और पुरुष अधिकारियों से सीबीआई पूछताछ कर रही है। दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जांच में शामिल सेना के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि किसी भी तरह से भ्रष्टाचार से समझौता नहीं किया जा सकता है। अधिकारियों ने यह भी कहा है कि सेना में भर्ती होने के लिए रिश्वत देते जो भी व्यक्ति पाया जाता है चाहे वह पहले से ही कमीशन किया गया हो या प्रशिक्षण से गुजर रहा हो, उन सभी को तत्काल बाहर किया जाएगा और कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

सेना में भर्ती घोटाला सामने आने के बाद चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवने ने पहले ही ये स्पष्ट कर दिया है कि इस संबंध में किसी को बख्शा नहीं जाएगा और किसी भी तरह से कोई सैन्य अधिकारी और जवान किसी अनैतिक काम या वित्तीय भ्रष्टाचार के मामलों में शामिल पाया जाता है तो उसे सजा जरूर मिलेगी।

क्या है सेना भर्ती घोटाला?

आपको बता दें कि कुछ समय पहले ये बात सामने आई थी कि सेना में भर्ती के लिए रिश्वत लिए जा रहे हैं। ऐसे में इस मामले को लेकर सेना की ओर से आंतरिक जांच की गई, जिसमें ये पाया गया कि सेना के कुछ अधिकारियों ने सही मायने में अभ्यर्थियों से रिश्वत ली है।

यह भी पढ़ें :- सेना भर्ती के नाम पर युवाओं से लाखों की ठगी, आर्मी इंटेलिजेंस ने गैंग के सरगना को पकड़ा

जांच में ये पाया गया कि पिछले साल दिसंबर के राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (NDA) के सर्विस सलेक्शन बोर्ड (SSB) के लिए अधिकारियों ने रिश्वत लेकर कई अभ्यर्थियों को पास किया था। इसके बाद इस पूरे मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) को सौंपी गई। CBI ने अपनी तहकीकात शुरू करते हुए इस साल 13 मार्च को इस मामले में केस दर्ज किया था।

मालूम हो कि सेना भर्ती घोटाले में CBI ने सेना के लेफ्टिनेंट कर्नल, मेजर, नायब सूबेदार जैसे अधिकारियों, छह सिविलियन और अन्य समेत 17 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इन सभी लोगों खिलाफ SSB के जरिए सेना में अफसरों और अन्य पदों पर भर्ती में घूस लेने और अन्य अनियमितताएं बरतने का गंभीर आरोप है। सेना भर्ती घोटाले में सशस्त्र बलों के अधिकारी और जवान के रूप में शामिल होने के इच्छुक उम्मीदवारों कए अलावा कोचिंग और प्रशिक्षण देने वाले कई एजेंसियां भी शामिल हैं। फिलहाल इसकी पूरी जांच की जा रही है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned