सेना भर्ती घोटाला: सीबीआई की बड़ी कार्रवाई, 17 आर्मी ऑफिसर्स पर केस दर्ज

  • केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो ( CBI ) ने सेना भर्ती घोटाले को लेकर कई स्थानों पर छापेमारी की
  • CBI ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए 17 आर्मी ऑफिसर्स के खिलाफ केस दर्ज किया

By: Mohit sharma

Updated: 15 Mar 2021, 11:26 PM IST

नई दिल्ली। केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो यानी सीबीआई ने सेना भर्ती घोटाले ( Army Recruitment Scam Case ) को लेकर कई स्थानों पर छापेमारी की है। इसके साथ ही सीबीआई ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए 17 आर्मी ऑफिसर्स के खिलाफ केस दर्ज किया है। जानकारी के अनुसार छापेमारी के दौरान सीबीआई को कई अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं।

कोरोना वैक्सीनेशन की प्रमाणिकता पर सवाल, डॉक्टर दंपत्ति दोनों डोज लगने के बाद भी संक्रमित

17 आर्मी ऑफिसर्स के लिए खिलाफ केस दर्ज किया गया

सीबीआई ने छापेमारी की जानकारी देते हुए बताया कि सेना भर्ती घोटाला मामले में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। इस केस में 17 आर्मी ऑफिसर्स के लिए खिलाफ केस दर्ज किया गया है, जिनमें लेफ्टिनेट कर्नल, मेजर, नायब सूबेदार व सिपाही आदि शामिल हैं। सीबीआई ने जानकारी देते हुए बताया कि यह मामला सेवा चयन बोर्ड यानी एसएसबी के जरिए ऑफिसर्स और अन्य पदों पर भर्ती प्रक्रिया में रिश्वत और अनियमितताओं से संबंधित है। इस केस में छह सिविल लोगों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराई गई है।

शरद पवार की भविष्यवाणी- केवल इस राज्य में ही जीत पाएगी BJP, 4 राज्यों में हार निश्चित

आर्मी हेडक्वार्टर ने खुद सीबीआई को इसकी लिखित शिकायत दी

सीबीआई की ओर से बताया गया कि छापेमारी के दौरान तीस स्थानों पर तलाशी की गई। इनमें जोरहाट, गुवाहाटी, जयपुर, विशाखापत्तनम, गोरखपुर, बरेली, लखनऊ, पलवन, कैथल, दिल्ली, भठिंडा व कपूरथला आदि जगह शामिल हैं। इस दौरान सीबीआई के हाथ कुछ अहम सुराग लगे हैं, जिनकी जांच की जाएगी। इस केस की खास बता यह है कि आर्मी हेडक्वार्टर ने खुद सीबीआई को इसकी लिखित शिकायत दी थी। इस घोटाले में शामिल अधिकारियों पर भर्ती के बदले लोगों से पैसा लेने का आरोप है। इस मामले में रिश्वत कैश के अलावा चेक से भी ली गई है, जिसको बाद में बैंक में स्थानांतरित करा दिया गया था।

सीबीआई के प्रवक्ता आरसी जोशी ने जानकारी देते हुए बताया कि आर्मी हेडक्वार्टर के सतर्कता विभाग ने यह शिकायत सीबीआई को दी थी। इसके साथ ही रोचक बात यह है कि आर्मी की अपनी जांच में भी सामने आया था कि सेना में ही मौजूद हलवदार और लेफ्टिनेंट लेवल के अधिकारी ने भर्ती प्रक्रिया में घूस दी थी।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned