शरद पवार की भविष्यवाणी- केवल इस राज्य में ही जीत पाएगी BJP, 4 राज्यों में हार निश्चित

  • देश के पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों में चुनाव को लेकर सियासी गहमागहमी का दौर है
  • भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस पार्टी के बीच सियासी उठापटक का दौर जारी है

By: Mohit sharma

Updated: 14 Mar 2021, 08:44 PM IST

नई दिल्ली। देश के पांच राज्यों पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल, असम और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव ( Assembly Election ) को लेकर सियासी गहमागहमी का दौर जा रही है। पश्चिम बंगाल ( West Bengal Assembly Election ) में जहां भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस पार्टी के बीच सियासी उठापटक का दौर जारी है, वहीं असम और केरल कांग्रेस की प्रतिष्ठा का सवाल बना हुआ है। जबकि तमिलनाडु में भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दल क्षेत्रीय पर्टियों के साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। इस बीच एनसीपी चीफ शरद पवार ने रविवार को पांचों राज्यों में होने जा रहे चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है।

West Bengal: विशेष पर्यवेक्षकों ने EC को सौंपी रिपोर्ट, जानिए ममता बनर्जी कैसे हुईं थी चोटिल?

'भाजपा केवल पांच में से एक राज्य में ही जीत हासिल कर पाएगी'

शरद पवार ने कहा है कि भाजपा केवल पांच में से एक राज्य में ही जीत हासिल कर पाएगी। जबकि अन्य चार राज्यों में उसको हार का ही मुंह देखना पड़ेगा। शरद पवार ने कहा कि भाजपा को केवल उत्तरी-पूर्वी राज्य असम में ही जीत मिल पाएगी, जबकि अन्य शेष राज्यों में उसको हार के साथ ही संतोष करना पड़ेगा। यहां शरद पवार का सीधा मतलब भाजपा की पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में हार से था। भारतीय जनता पार्टी ने बंगाल के साथ ही अन्य राज्यों में भी चुनाव जीत के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है।

खुश खबरी: HSSC ने लेखपाल और ग्राम सचिवों के के पदों पर निकाली 2385 वैकेंसी, ऐसे करें आवेदन

बयान ने देश की राजनीति में हलचल पैदा कर दी

वहीं, शरद पवार के इस बयान ने देश की राजनीति में हलचल पैदा कर दी है। हालांकि भाजपा की ओर एनसीपी चीफ के इस बयान पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। लेकिन बयान ने चुनाव के बीच एक बहस को जरूर जन्म दे दिया है। दरअसल, एनसीपी चीफ शरद पवार एक कद्दावर नेता हैं और देश की सियासत में उनका अच्छा खासा दखल है। ऐसे में उनके किसी भी बयान के राजनीतिक जानकार अलग मायने निकालकर देखते हैं। इससे पहले शरद पवार ने बारामती में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी पर निशाना साधा था। पवार ने कोश्यारी पर संवैधानिक दायित्वों का निर्वहन न करने का आरोप जड़ा था। उन्होंने कहा कि राज्यपाल राज्य सरकार के कामों में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। जबकि केंद्र सरकार खुली आंखों से यह सब देख रही है।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned