केजरीवाल की मांग, इस बार डॉक्टरों को मिले 'भारत रत्न', कोरोना में जान गंवाने वाले योद्धाओं को सच्ची श्रद्धांजलि

अरविंद केजरीवाल ने डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिए भारत रत्न की मांग की है। केजरीवाल ने कहा कि इन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान सेवा करते हुए अपनी जान दे दी।

नई दिल्ली। दिल्ली मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के मुखिया अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिए भारत रत्न (Bharat Ratna) की मांग की है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि इन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान सेवा करते हुए अपनी जान दे दी। कोविड-19 के खिलाफ जंग में अग्रिम पंक्ति में खड़े होकर मरीजों की सेवा की। कोरोना महामारी के खिलाफ डॉक्टरों और हेल्थवर्कर्स ने जंग लड़ी। भारत रत्न देकर उन डॉक्टरों को सच्ची श्रद्धांजलि दी जा सकती है।

यह भी पढें :— बिजली बिल बकाया पर सिद्धू की पत्‍नी का सुखबीर बादल को करारा जवाब, कहा- हम इज्जत से कमाते हैं रोटी, गैरकानूनी तरीके से नहीं

ये सच्ची श्रद्धांजली होगी
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को इसके बारे में एक ट्विट किया। केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा, इस वर्ष 'भारतीय डॉक्टर' को भारत रत्न मिलना चाहिए। भारतीय डॉक्टर मतलब सभी डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिक। शहीद हुए डाक्टरों को ये सच्ची श्रद्धांजली होगी। अपनी जान और परिवार की चिंता किए बिना सेवा करने वालों का ये सम्मान होगा। पूरा देश इस से खुश होगा।

पीएम मोदी की डॉक्टरों की सहराहना
हाल ही में एक जुलाई को नेशनल डॉकर्ट्स डे के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस से लोगों की जान बचाने में डॉक्टरों के योगदान की काफी सराहना की थी। पीएम मोदी ने कहा था कि एक शक्स की मौत भी बहुत दुखद है। देश ने भी अपने लाखों लोगों की जान कोरोना से बचाई है। इन सभी का श्रेय हमारे मेहनती डॉक्टरों, स्वास्थ्य कर्मियों और अग्रिम पंक्ति में कार्यकर्ताओं को जाता है। जिन्होंने मुश्किल वक्त में खुद की परवाह किए बिना लोगों की जान बनाई है।

यह भी पढ़ें :— आधार कार्ड से जुड़ा नया अपडेट, सभी के लिए होगा लागू, आम लोगों के लिए आसान हुआ ये काम

 

चिकित्सकों और वैज्ञानिकों का अहम योगदान
आपको बता दें कि पिछले दो साल से कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जंग लड़ रहे चिकित्सकों का अहम योगदान रहा है। कोरोना से लड़ाई में जितनी चुनौतियां आईं, चिकित्सक और वैज्ञानिकों ने उतने ही समाधान तलाशें और प्रभावी दवाइयां बनाईं। सबसे खास बात इस मुश्किल वक्त में जहां अपने ही साथ छोड़ दिए। उस मुश्किल दौर में डॉक्टरों और नर्सों ने मरीजों को नई जिंदगी दी।

Arvind Kejriwal coronavirus
Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned