Assam का सातवां नेशनल पार्क बना देहिंग-पटकाई, एक हफ्ते में दो राष्ट्रीय उद्यानों की घोषणा

देश का दूसरा सबसे बड़ा National Park वाला राज्य बना Assam, जानिए किस प्रदेश के पास है पहले नंबर का तमगा

नई दिल्ली। प्रकृति प्रेमियों ( Nature Lovers ) के लिए अच्छी खबर सामने आई है। दरअसल देश को पूर्वोत्तर राज्य असम को अपना सातवां राष्ट्रीय उद्यान ( National Park ) मिल गया है। असम के देहिंग-पटकाई को एक अधिसूचना जारी कर राष्ट्रीय उद्यान घोषित कर दिया गया। देहिंग-पटकाई अब राज्य का सातवां राष्ट्रीय उद्यान हो गया है।

राज्य के वन एवं पर्यावरण मंत्री परिमल शुक्ल वैद्य ने यह जानकारी दी। इसके साथ ही प्रकृति प्रेमियों के लिए खास तौर पर जिन्हें नेशनल पार्क जैसे स्थलों पर घूमना पसंद है, उन्हें एक और स्पॉट मिल गया है।

यह भी पढ़ेँः कोरोना के इलाज में Monoclonal Antibody Therapy हो सकती है कारगर, दिल्ली के मरीजों में दिखे राहत देने वाले नतीजे

एक हफ्ते में दूसरा नेशनल पार्क
असम को एक हफ्ते के अंदर दूसरा नेशनल पार्क मिला है। इससे पहले 5 जून यानी विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर भी प्रदेश में रायमोना को नेशनल पार्क घोषित किया गया था।

‘बोडोलैंड टेरिटोरियल रीजन’ (बीटीआर) में स्थित रामोना या रैमोना को छठवें राष्ट्रीय उद्यान के तौर पर घोषित किया गया था।

देश के दूसरा सबसे ज्यादा नेशनल पार्क वाला राज्य
देहिंग-पटकाई के रूप में सातवां नेशनल मिलने के साथ ही अब असम देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य बन गया है। जहां पर सबसे ज्यादा राष्ट्रीय उद्यान हैं। असम से ज्यादा राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश में हैं। यहां कुल 9 नेशनल पार्क हैं।

मंत्री की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि मध्य प्रदेश और अंडमान निकोबार द्वीप समूहों में नौ-नौ राष्ट्रीय उद्यान हैं।

शुक्ल वैद्य ने कहा, 'नए बने राष्ट्रीय उद्यान से संरक्षण के प्रयासों को बल मिलेगा और पर्यटन तथा कृषि क्षेत्रों को इसका लाभ मिलेगा।'

वर्षा वन के नाम भी जाना जाता है नया नेशनल पार्क
नए राष्ट्रीय उद्यान को देहिंग पटकाई वर्षा वन के नाम से जाना जाता है और यहां कई तरह के पेड़-पौधे एवं जीव-जंतु पाए जाते हैं।

राज्य सरकार की ओर से 111.19 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले इस वर्षा वन को 2004 में देहिंग पटकाई वन्यजीव अभयारण्य के रूप में अधिसूचित किया गया था।

यह भी पढ़ेंः कोरोना संक्रमित बच्चों के लिए जारी हुई नई गाइडलाइन, इलाज में न हो रेमडेसेविर का इस्तेमाल

असम में कहां स्थित
देहिंग पटकाई वन्यजीव अभयारण्य असम के डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया जिलों में स्थित है। 111.19 वर्ग किमी (42.93 वर्ग मील) वर्षा वन क्षेत्र को कवर करता है।

यह असम घाटी के उष्णकटिबंधीय आर्द्र सदाबहार वन का एक हिस्सा है और इसके तीन हिस्से- जेयपोर (Jeypore), ऊपरी देहिंग नदी (Upper Dehing River) और डिरोक वर्षावन ( Dirok Rainforest ) शामिल हैं।
असम सरकार ने महीनों के विवाद के बाद 6 जुलाई, 2020 को देहिंग पटकाई वन्यजीव अभयारण्य ( Dehing Patkai Wildlife Sanctuary ) को राष्ट्रीय उद्यान में अपग्रेड करने के लिए निर्णय लिया।

वहीं केंद्रीय पर्यावरण और वन मंत्रालय के प्रोजेक्ट एलीफेंट के तहत 1992 में देहिंग पटकाई को एलीफेंट रिजर्व घोषित किया गया था। इसके बाद 13 जून, 2004 को देहिंग पटकाई को एक वन्यजीव अभयारण्य के रूप में घोषित किया गया था।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned