Coronavirus के खिलाफ बड़ी कामयाबी, दुनिया में सबसे ज्यादा ठीक होने वाले मरीज भारत में

  • कोरोना( Coronavirus Cases in India ) से सर्वाधिक प्रभावित पांच राज्यों से आधे से ज्यादा रिकवरी।
  • बीते 24 घंटे में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 89,154 पहुंची।
  • 6,077,976 ठीक होने वाले मरीजों की संख्या दुनिया में सर्वाधिक।

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस महामारी ( Coronavirus Cases in India ) के बीच लगातार अच्छी खबरें आना जारी है, जो इस बीमारी का खौफ करने में काफी कारगर हैं। भारत में बीते 24 घंटों के भीतर 89,154 लोग कोरोना वायरस महामारी से ठीक हो गए और इसके साथ ही देश में इस वायरस को मात देकर ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 60,77,976 पहुंच गई। देश में अब कोरोना वायरस मरीजों का रिकवरी रेट ऐतिहासिक रूप से बढ़कर सर्वाधिक 86.17 फीसदी पहुंच गया है। वहीं, एक्टिव केस की हिस्सेदारी 12.30 फीसदी और मौत की हिस्सेदारी 1.54 फीसदी है।

भारत में नहीं दिखा ऑक्सफोर्ड वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट, दुनिया में वैक्सीन को लेकर यह है लेटेस्ट अपडेट

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक देश में अब तक ठीक होने वाले 60 लाख से ज्यादा मरीजों में आधे से ज्यादा कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित पांच राज्यों से है। कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित पांच राज्यों में देश के कुल एक्टिव केस का 61 फीसदी मौजूद है जबकि इनमें अब तक 54.3 फीसदी मरीजों की रिकवरी हुई हैं।

देश में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले कुल मरीजों में से 80 फीसदी महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, दिल्ली और छत्तीसगढ़ जैसे 10 राज्यों में देखने को मिले हैं। इस महामारी से बीते 24 घंटों में सर्वाधिक 26,000 से अधिक मरीज महाराष्ट्र में ठीक हुए हैं।

सावधान! कोरोना के पीक पर असमंजस बरकार, रिकवरी रेट भी पुरानी स्थिति की ओर

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी बयान में कहा गया है, "लगातार बढ़ती कोरोना वायरस से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या के साथ, भारत अधिकतम रिकवर्ड केसेज के मामले में दुनिया में सबसे आगे आ चुका है।" बयान के मुताबिक "देशव्यापी बुनियादी चिकित्सा ढांचे में बढ़ोतरी, राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा केंद्र के मानक उपचार प्रोटोकॉल को लागू करने और डॉक्टरों, पैरामेडिक्स और फ्रंटलाइन श्रमिकों के समर्पण और प्रतिबद्धता के कारण दैनिक मृत्यु की संख्या में लगातार कमी और ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हुई है।"

जुलाई 2021 तक भी COVID-19 Vaccine पूरे देश को नहीं मिल पाएगी! स्वास्थ्य मंत्री की घोषणा का है यह मतलब

मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटों में देश में Covid-19 के 74,383 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें 80 फीसदी हिस्सा 10 राज्यों और संघ शासित प्रदेशों से देखने को मिला है। इस दौरान केरल में सबसे ज्यादा नए मामले देखने को मिले, जिसके बाद महाराष्ट्र का नाम आता है। दोनों ने कुल मिलाकर 11,000 से अधिक मामलों का योगदान दिया है।

यहां ध्यान देने वाली बात है कि भारत में बीते 13 दिनों में 10 लाख नए केस देखने को मिले हैं और इनमें से ज्यादातर कोविड-19 मामले महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश से सामने आए हैं। केरल और कर्नाटक को छोड़कर अन्य सभी राज्यों ने उनके कोरोना वायरस केस को चरम तक पहुंचते देखा है।

कोरोना वायरस

मंत्रालय के मुताबिक भारत में फिलहाल एक्टिव केस की संख्या 8,67,496 है। एक्टिव केस की संख्या लगातार घटती जा रही है। पिछले 24 घंटों में देश भर में मौतों की संख्या 918 रही और इनमें से 84 फीसदी मौतें 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से आई हैं। इनमें 308 मौतों के साथ महाराष्ट्र की हिस्सेदारी 33 फीसदी रही और कर्नाटक में 102 मौतें हुईं। पिछले लगातार आठ दिनों से दर्ज की गई नई मौतें 1,000 से कम देखने को मिली हैं और अब देश में कुल मौतें 1,08,334 हो गई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनिया के 76 करोड़ लोग कोरोना संक्रमित, आने वाले वक्त में बिगड़ेंगे हालात

गौरतलब है कि सितंबर में रोजाना सामने आने वाले कोरोना वायरस के मामलों की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिली थी और 6 सितंबर से 20 सितंबर के बीच 90,000 से अधिक मामले थे। जबकि भारत में 21 सितंबर के बाद से दैनिक मामलों की संख्या में गिरावट देखी गई है।

Coronavirus Cases in India Coronavirus Deaths
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned