scriptBrahma Kumari's Chief Administrator Grandma Hriday Mohini died | ब्रह्माकुमारी की मुखिया दादी हृदयमोहिनी का हुआ निधन, लंबे समय से थीं बीमार | Patrika News

ब्रह्माकुमारी की मुखिया दादी हृदयमोहिनी का हुआ निधन, लंबे समय से थीं बीमार

  • विश्व प्रसिद्ध आध्यात्मिक संगठन ब्रह्म कुमारीज की मुख्य प्रशासक दादी हृदय मोहिनी का हुआ निधन
  • वह 93 साल की थीं दादी हृदय मोहिनी
  • पिछले 2 हफ्ते से अस्पताल में इलाज चल रहा था

नई दिल्ली

Published: March 11, 2021 07:41:06 pm

नई दिल्ली। राजस्थान के माउंट आबू में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की प्रमुख और राजयोगिनी दादी हृदयमोहिनी जिन्हें गुलजार दादी के नाम से भी जाना जाता था उनका गुरुवार को 93 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। दादी हृदयमोहिनी बीते कई दिनों से बीमार चल रही थीं। बीमारी के बाद उन्हें मुंबई के सैफी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती काराया गया था जहां उनका निधन हो गया। दादी हृदयमोहिनी के निधन से धार्मिक, राजनीतिक जगत में शोक की लहर दौड़ गई है।

Grandma Hriday Mohini died
Grandma Hriday Mohini died

यह भी पढ़ें
-

सालों के इंतजार के बाद मूक बधिर गीता को मिली असली मां, सुषमा स्वराज ने किए थे प्रयास

ब्रह्माकुमारी संस्थान के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 13 मार्च को सुबह माउंट आबू के ज्ञान सरोवर में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। आपको बतादें दादी हृदयमोहिनी सन 1937 में ब्रह्मा बाबा द्वारा स्थापित बोर्डिंग स्कूल में ही शिक्षा ग्रहण किया था। राजयोगिनी दादी हृदय मोहिनी के स्वास्थ्य से संबंधित जानकारी पूर्व में संस्थान के मीडिया प्रभारी ने दी थी।

दादी हृदय मोहिनी के अंतिम संस्कार से पहले आबू रोड स्थित अंतरराष्ट्रीय मुख्यालय शांतिवन में 12 मार्च को उनकी पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शनों के लिए रखा जाएगा। उनके निधन की दुखद खबर से भारत सहित विश्व के 140 देशों में संचालित सेवा केंद्रों में शोक की लहर दौड़ गई है। गुलजार दादी के निधन से ब्रह्माकुमारी संस्थान के सभी कार्यक्रमों को स्थगित कर दिया गया है। दादी के आध्यात्मिक ज्ञान उनके सिद्धांत और योग की प्रेरणा से करोड़ों लोग उनसे प्रभावित थे। मृत्यु से एक वर्ष पूर्व दादी जानकी के निधन के पश्चात उन्हें मुख्य प्रशासक नियुक्त किया गया था।

दादी का जन्म एक जुलाई, 1926 को हैदराबाद पाकिस्तान के सिंध में हुआ था। नौ वर्ष की उम्र में वो संस्थान से जुड़ गई थी। और तब से लेकर आज तक वो संस्था से जुड़ी रही हैं। दादी हृदय मोहिनी ने माउंट आबू आने से पहले लखनऊ तथा दिल्ली में भी संस्थान से जुड़ी हुई थीं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Assembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारसुरक्षा एजेंसियों की भुज में बड़ी कार्यवाही, 18 लाख के नकली नोटों के साथ डेढ़ किलो सोने के बिस्किट किए बरामदPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनावKanimozhi ने जारी किया हिन्दी सब-टाइटल वाला वीडियोIndian Railways News: रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर, 22 महीने बाद लोकल स्पेशल ट्रेनों में इस तारीख से MST होगी बहालएक किस्साः जब बाल ठाकरे ने कह दिया था- मैं महाराष्ट्र का राजा बनूंगा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.