Chaitra Navratri 2021: कोरोना संकट के बीच मंदिरों को लेकर क्या है गाइडलाइन, जानिए राज्यों की तैयारी

Chaitra navratri 2021 कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच नवरात्रि को लेकर राज्यों में खास तैयारी

नई दिल्ली। पूरे देश में तेजी से फैल रहे कोरोना संकट के बीच 13 अप्रैल से चैत्र नवरात्रि ( Chaitra Navratri 2021 ) का पर्व मनाया जा रहा है। शक्ति की भक्ति का ये पर्व वैसे तो देशभर में मनाया जाता है, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते इस बार मंदिरों पर इसका खासा असर देखने को मिलेगा, क्योंकि कई राज्यों में बढ़ते मामलों को चलते कड़ी पाबंदियां लागू कर दी गई हैं।

राज्य सरकारें ज्यादा ढील देने के पक्ष में नहीं दिख रही हैं। महाराष्ट्र से लेकर दिल्ली तक, यूपी से लेकर बिहार तक राज्य सरकारों ने कड़ी पाबंदियां लगा रखी हैं। आइए जानते हैं किन राज्यों ने कोरोना संकट के बीच नवरात्रि को लेकर ( Covid Guidelines for Navratri ) क्या की है तैयारी

यह भी पढ़ेँः Chaitra Navratri 2021 अनेक शुभ योगों के साथ आई नवरात्रि, जानें घटस्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त

उत्तर प्रदेश में सुरक्षा और बचाव का मंत्र
उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवरात्र के लिए 'सुरक्षा और बचाव' का मंत्र दिया है। इसके तहत सरकार स्वच्छता, सेनिटाइजेशन और फॉगिंग पर जोर दे रही है।

योगी सरकार ने सभी धार्मिक स्थलों पर एक बार में केवल 5 लोगों को ही प्रवेश देने का फैसला किया है। इसके अलावा प्रसाद बांटने और पवित्र जल के छिड़काव पर भी प्रतिबंध है। इसके साथ ही धर्मस्थलों में सैनिटाजेशन, सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क लगाना अनिवार्य है।

साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का धार्मिक स्थलों में पालन कराए जाने के लिये भी अधिकारियों को सख्ती बरतने के लिए कहा है।

शहरों के साथ गांवों में भी स्वच्छता व फॉगिंग पर जोर दिया जा रहा है। इसके अलावा बस स्टेशनों पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम के निर्देश हैं। कोविड हेल्प डेस्क भी बनाई गई है।

महाराष्ट्र में लॉकडाउन की तैयारी
महाराष्ट्र में कोरोना का सबसे ज्यादा खतरा बढ़ा है। वीकेंड लॉकडाउन के साथ-साथ अब प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन की तैयारी चल रही है। माना जा रहा है 14 अप्रैल को बड़ा ऐलान हो सकता है।

नवरात्रि पर महाराष्ट्र सरकार ने अलग से गाइडलाइन जारी नहीं की है बल्कि पूर्व कोविड गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। इसके तहत मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों समेत तमाम धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। लेकिन इस दौरान धार्मिक स्‍थलों के पुजारी, मौलाना, ग्रंथी पूजा-पाठ कर सकेंगे।

यहां भी पढ़ेंः Chaitra Navratri 2021: बेहद खास है इस बार की चैत्र नवरात्रि, जानें किनकी होगी मनोकामना पूरी

दिल्ली में प्रसाद-फोन की नहीं होगी एंट्री
दिल्ली में भी बढ़ते कोरोना के बीच सरकार ये सुनिश्चित कर रही है कि नवरात्रि पर मंदिरों में कोविड नियमों का सख्ती से पालन हो। इस दौरान प्रसाद से लेकर मोबाइल फोन की एंट्री तक पर रोक लगाई गई है। नाइट कर्फ्यू के चलते श्रद्धालु सुबह 6 से रात 9 बजे तक ही मंदिरों में प्रवेश कर सकेंगे।

मंदिरों में थर्मल स्कैनर और सैनिटाइजर की व्‍यवस्‍था करवाई गई है साथ ही, माला, नारियल जैसे प्रसाद पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

एमपी के 11 जिलों में लॉकडाउन
नवरात्रि के मौके पर मध्य प्रदेश की बात करें तो यहां पहले ही सरकार 11 जिलों में 19 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन लगा चुकी है। इसके बाद आगे की रणनीति को लेकर भी जल्द ऐलान हो सकता है। वहीं प्रदेश के अन्य शहरों में भी धार्मिक स्थलों को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। ऐसे में यहां पर नवरात्रि का पर्व घरों में ही मनाया जाएगा। धार्मिक स्‍थलों पर पुजारी, मौलवी और पादरी पूजा कर सकेंगे।

यह भी पढ़ेँः Chaitra Navratri 2021 - Day1 - चैत्र नवरात्रि के पहले दिन कलश स्थापना के साथ ही देवी मां शैलपुत्री को ऐसे करें प्रसन्न

बिहार में 30 अप्रैल तक धार्मिक स्थल बंद
बिहार में नीतीश सरकार ने कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच 30 अप्रैल तक धार्मिक स्थलों को बंद रखने का निर्णय लिया है। इस दौरान किसी भी धार्मिक समारोह की भी इजाजत नहीं है।

यह भी पढ़ेंः Chaitra Navratri 2021 दक्ष ने दी स्फटिक माला, इंद्र ने दिया वज्र, जानें दुर्गाजी को किसने भेंट किया उनका वाहन

यह भी पढ़ेंः Chaitra Navratri 2021: कोरोना संक्रमण के बीच व्रत के दौरान इम्युनिटी का रखें ध्यान, अपनाएं ऐसा

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned