कर्नाटक: लॉकडाउन को 14 जून तक बढ़ाने के संकेत, ग्रामीण इलाकों में नहीं थम रहे कोरोना के मामले

सीएम बीएस येदियुरप्पा ने बुधवार को कहा कि सख्त उपाय फिलहाल जारी रह सकते हैं,क्योंकि कोरोना वायरस पूरी तरह से नियंत्रण में नहीं आया है।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों पर लगाम लगाने के लिए कर्नाटक सरकार राज्य में लॉकडाउन को 14 जून तक बढ़ा सकती है। अभी ये सात जून तक लगा हुआ है। सीएम बीएस येदियुरप्पा ने बुधवार को ही इसके संकेत दे दिए। उन्होंने कहा था कि सख्त उपाय फिलहाल जारी रह सकते हैं,क्योंकि कोरोना वायरस पूरी तरह से नियंत्रण में नहीं आया है।

Read More: पंजाब कांग्रेस में घमासान, सोनिया की बनाई समिति के सामने पेश होने दिल्ली पहुंचेंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह

गौरतलब है कि कनार्टक के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के मामले अभी भी ज्यादा हैं। हालांकि उन्होंने संकेत दिया कि कुछ क्षेत्रों को छूट दी जा सकती है। उन्होंने ऐलान किया कि जल्द निर्यात उन्मुख व्यवसायों को संचालित करने की अनुमति मिल सकती है।

निर्यात उद्योग को मिल सकती है अनुमति

येदियुरप्पा के अनुसार लॉकडाउन के संबंध में जो उपाय किए जा रहे हैं, उन पर निर्णय लेने के लिए वे सभी के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हैं। सबसे अहम बात यह है कि उन्होंने निर्यात उद्योग में शामिल लोगों को राहत देने का फैसला लिया है। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि वह वरिष्ठ मंत्रियों और अधिकारियों के साथ कई अन्य बातों पर चर्चा करेंगे और जल्द लॉकडाउन पर फैसला लेंगे।

उन्होंने कहा कि वे विशेषज्ञों के साथ चर्चा करेंगे और सुझाव के बाद ही कदम उठाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस पूरी तरह से नियंत्रण में नहीं आया है। ग्रामीण क्षेत्रों में मामले अभी भी सामने आ रहे हैं। सीएम ने कहा कि वे ऐसा निर्णय लेना चाहेंगे जो संतुलित हो और हर वर्ग के लिए लाभ देने वाला हो।

Read More: Jammu Kashmir: पुलावामा में आतंकियों ने बीजेपी नेता की गोली मार कर की हत्या, दोस्त की बेटी भी जख्मी

मृतकों की संख्या 29,554 तक पहुंची

दूसरे लॉकडाउन को लेकर राहत पैकेज से संबंधित पूछे गए सवाल के जवाब में सीएम ने कहा कि वह एक दो दिनों में इस पर निर्णय लेने वाले हैं। कर्नाटक में संक्रमण के कुल मामले 26.18 लाख हैं, वहीं मृतकों की संख्या 29,554 तक पहुंच चुकी है। यहां पर अभी भी कोरोना के मामलों में कमी नहीं देखने को मिल रही है। यहां के ग्रामीण इलाकों में संक्रमण की रफ्तार में तेजी देखने को मिली है।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned