कांग्रेस ने दोबारा उठाया सवाल, पीएम ने पहले क्यों नहीं लगवाया कोरोना टीका

Highlights

  • प्रधानमंत्री मोदी ने भारत बायोटेक द्वारा विकसित की गई कोवैक्सीन की खुराक ली है।
  • कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि पीएम राजनीति कर रहे हैं।

नई दिल्ली। कोरोना टीकाकरण का दूसरा चरण एक मार्च से देश में शुरू हो गया है और इसकी शुरुआत सुबह पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना का टीका लगवाकर की। प्रधानमंत्री मोदी ने भारत बायोटेक द्वारा विकसित की गई कोवैक्सीन की खुराक ली है। लेकिन अब इस पर राजनीति शुरू हो गई है।

सीएम नीतीश कुमार बोले - बिहार में फ्री में होगा कोरोना टीकाकरण, प्राइवेट अस्पतालों में भी सरकार करेगी इंतजाम

कांग्रेस नेता और लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी के अनुसार पीएम मोदी चुनावी राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पीएम ने पहले वैक्सीन क्यों नहीं लगवाई, जब वैज्ञानिकों ने कह दिया कि वैक्सीन सुरक्षित है, तब जाकर लगवाई। अधीर रंजन के अनुसार पहले हमने नहीं बल्कि वैज्ञानिकों की कमेटी ने सवाल खड़े किए थे। तब क्यों नहीं लगवाया, अब लगवाया है तो स्वागत है।

यही नहीं अधीर रंजन का कहना है कि इसमें चुनाव को ध्यान में रखकर यह किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि केरल और पुडुचेरी की नर्स और असम का गमछा, मैं तो कहता हूं कि बंगाल की गीतांजलि भी हाथ में ले लेते तो सब पूरा हो जाता। अधीर रंजन के बयान के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पलटवार किया है। आज पीएम मोदी ने सभी को जवाब दे दिया है।

उन्होंने कहा कि आज जब 60 वर्ष की उम्र से अधिक लोग टीका लगवाया जाएगा तो इसकी पहल पीएम मोदी ने की है। उन्होंने आगे कहा कि वे विपक्ष से कहना चाहते हैं कि चुनाव में राजनीति के लिए और भी मुद्दे हैं, क्या हम कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एकजुट हो सकते हैं? यही नहीं, रविशंकर प्रसाद ने बताया कि सभी मंत्रियों ने फैसला किया है कि हम मुफ्त में कोरोना का टीका नहीं लेंगे।

कोविड-19 वैक्सीन युवाओं को देनी चाहिए

मल्लिकार्जुन खड़गे से जब ये पूछा गया कि क्या वे कोरोना वायरस की वैक्सीन लगवाएंगे तो उन्होंने कहा कि मेरी उम्र 70 साल से ऊपर है। आपको इसे (कोविड-19 वैक्सीन) युवाओं को देनी चाहिए। इनके पास जीवन के ज्यादा वर्ष हैं। उनके पास जीने के लिए केवल 10-15 साल और हैं।'

वैक्सीन पर जताया था संदेह

कोवैक्सीन को लेकर विपक्ष की तरफ से पहले भी सवाल खड़े किए गए थे। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी के अनुसार लोगों के बीच भरोसा जगाने के लिए पीएम मोदी को पहले वैक्सीन लगवानी चाहिए। इसके अलावा शशि थरूर का कहना था कि बिना तीसरे चरण के परीक्षण के ही इसे मंजूरी देना खतरनाक है।

Congress coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned