Corona vaccination: दिल्ली में वैक्सीन लगवाने वालों का उत्साह पड़ा ठंडा? दूसरे दिन आधे से कम लोग पहुंचे

  • भारत में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के तहत लगाए जा रहे टीके
  • दिल्ली में टीकाकरण के दूसरे दिन 50 प्रतिशत से भी कम पहुंचे लोग

नई दिल्ली। देश में एक ओर जहां कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) के नए मरीजों की संख्या लगातार घटती जा रही है, वहीं कोरोना वैक्सीनेशन ( Corona Vaccination ) की भी सफल शुरुआत हो चुकी है। भारत में अब रोजाना लाखों की तदाद में लोगों को कोरोना का टीका ( Corona Vaccine ) लगाया जा रहा है। हालांकि वैक्सीनेशन के पहले चरण में कोरोना वॉरियर्स ( Corona warriors ) यानी हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइन वर्कर्स को ही कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है। टीकाकरण अभियान को विस्तार देकर उसमे अन्य लोगों को भी शामिल किया जाएगा। इस बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वैक्सीनेशन ( Corona Vaccination in Delhi ) के पहले दिन के मुकाबले दूसरे दिन पचास प्रतिशत से भी कम हेल्थ वर्कर्स वैक्सीन लगवाने पहुंचे। जिसके चलते दिल्ली में सत्तारूढ़ दल आम आदमी पार्टी ने केंद्र सरकार से वैक्सीन को लेकर आम लोगों में भरोसा बढ़ाने की मांग की है।

AIIMS Director डॉ. गुलेरिया बोले-डरें नहीं, कोरोना वैक्सीन आपको मारेगी नहीं

पहले दिन 4319 और दूसरे दिन केवल 3598 हेल्थ वर्कर्स ही वैक्सीन लगवाने पहुंचे

दरअसल, दिल्ली की 81 वैक्सीनेट साइट पर हर रोज लगभग 8100 हेल्थकेयर वर्कर्स का वैक्सीन लगाने की व्यवस्था की गई है। लेकिन को-विन प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण के बावजूद पहले दिन 4319 और दूसरे दिन केवल 3598 हेल्थ वर्कर्स ही वैक्सीन लगवाने पहुंचे। कोरोना वैक्सीन लगवाने वालों की कमी को देखते हुए आम आदमी पार्टी के सौरभ भारद्वाज ने केंद्र सरकार से लोगों में भरोसा पैदा करने की मांग की। आप नेता ने कहा कि सरकार को वैक्सीन से जुड़े एक्सपर्ट और हेल्थ मिनिस्ट्री के लोगों को आम जनता के बीच जाकर कॉन्फिडेंस बिल्डिंग का काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सबसे पहले कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों की शंकाओं का समाधान किया जाना चाहिए। क्योंकि जब लोगों में भरोसा बढ़ेगा तभी वो वैक्सीन लगवाने को प्रेरित होंगे।

कर्मचारियों के लिए Corona Vaccine खरीदने की योजना बना रहीं देश की कई कंपनियां, लिस्ट में ये नाम शामिल

लोगों को बढ़ चढ़कर कोरोना की वैक्सीन लगवानी चाहिए

आप नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कोरोना वैक्सीन आने से पहले लोग इसको लगवाने के लिए आतुर थे, यहां तक वो सोशल मीडिया पर भी कोरोना वैक्सीन आने की तारीख पूछते थे। अब जबकि कोरोना वैक्सीन आ गई तो लोगों को बढ़ चढ़कर कोरोना की वैक्सीन लगवानी चाहिए। ऐसे में उनका वैक्सीन न लगवाना बेहद चिंताजनक है। आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए किसी को बाध्य नहीं किया जा सकता, यह पूरी तरह से स्वैच्छिक होगा। उन्होंने कहा था कि कोरोना वैक्सीनेशन गाइडलाइन और एक्सपर्ट के हिसाब से चलाया जा रहा है।

Coronavirus in india Coronavirus In India in Hindi
Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned