देश में Corona का कहर जारीः 16 लाख के पार हुए एक्टिव केस, खतरनाक वेरिएंट के अब तक 1,189 सैंपल मिले

Coronavirus का लगातार बढ़ रहा खतरा, देश में एक्टिव केस 16 लाख के हुए पार

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) का खतरा लगातार बढ़ रहा है। कई राज्यों में कोरोना बेकाबू होने के बाद कड़ी पाबंदियां लागू कर दी गई हैं। महाराष्ट्र से लेकर राजधानी दिल्ली तक लॉकडाउन और वीकेंड कर्फ्यू लागू है। बावजूद इसके कोरोना के मामलों में तेजी देखने को मिल रही है।

देश में एक्टिव केस ( Corona Active Case ) 16 लाख का आंकड़ा पार कर चुके हैं। वहीं कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक देश में कोविड-19 के खतरनाक वेरिएंट के अब तक 1,189 सैंपल में मिले हैं।

यह भी पढ़ेंः Video: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने Corona एम्स के डॉक्टरों से की बात, बोले- दूसरी लहर से जंग बड़ी

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, इसमें यूके वेरिएंट्स के 1,109 सैंपल, साउथ अफ्रीका वैरिएंट के 79 सैंपल और ब्राजील वेरिएंट का 1 सैंपल शामिल हैं।

कोरोना वायरस लगातार अपना स्वरूप बदल रहा है और इन वेरएंट्स के फैलने की क्षमता काफी ज्यादा है। वहीं देश में पाए गए ‘डबल म्यूटेंट’ वेरिएंट को लेकर सरकार ने कहा कि इसके फैलने की क्षमता अभी तक स्थापित नहीं हुई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत में इस्तेमाल हो रही RT-PCR जांच में ये म्यूटेशंस बच नहीं पाए हैं। सरकार ने अब भी टेस्टिंग, ट्रेसिंग, सर्विलांस और इलाज पर जोर देने को कहा है।

भारत में कोविड-19 संक्रमण के एक्टिव केस की संख्या 16 लाख के पार हो चुकी है, जबकि संक्रमण की वजह से 1 लाख 74 हजार 308 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

दिल्ली में 8 दिन में 1 लाख से ज्यादा केस
राजधानी दिल्ली में कोरोना तेजी से अपने पैर पसार रहा है। कोरोना संक्रमण के फैलाव का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि महज 8 दिन में राजधानी में कोरोना के 1 लाख से ज्यादा केस सामने आए हैं।

रोजाना औसतन 13 हजार मरीजों में कोरोना की पुष्टि हो रही है। संक्रमण दर 20 फीसदी से ऊपर पहुंच चुकी है। सक्रिय मरीज भी 50 हजार के आंकड़े को पार कर चुके हैं।

एक्सपर्ट्स की मानें तो दिल्ली कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य बन चुका है। इस समय और अधिक सख्ती बरतने की जरूरत है।

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में लागू हो सकता है टोटल लॉकडाउन! डिप्टी सीएम अजीत पवार का ऐलान

आपको बता दें कि पिछले साल 2 मार्च को पहला मरीज मिलने के बाद ऐसा पहली बार है कि जब 8 दिन में ही एक लाख लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इससे पहले नवंबर में आई तीसरी लहर में 21 दिन में इतने मामले आए थे।

उस दौरान रोजाना दिल्ली में 6 हजार नए केस मिल रहे थे। लेकिन अब ये संख्या 8 हजार से भी आगे पहुंच चुकी है। आठ अप्रैल को कुल संक्रमितों की संख्या 6 लाख 98 हजार 005 थी, जो अब बढ़कर 8 लाख 03 हजार 623 हो गई है। लिहाजा, 8 दिन में ही 1 लाख 5 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं।

आपको बता दें कि दिल्ली में 56 घंटे का कोरोना कर्फ्यू लागू हो चुका है। ये सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगा। कर्फ्यू के दौरान पूरी दिल्ली में पुलिस पेट्रोलिंग जारी रहेगी। अगर किसी ने भी अपने घर से बाहर कदम रखा, तो उन्हें पुलिस पेट्रोलिंग टीम का सामना करना पड़ेगा।

Coronavirus in india
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned