महाराष्ट्र में लागू हो सकता है टोटल लॉकडाउन! डिप्टी सीएम अजीत पवार का ऐलान

कोरोना वायरस की नई लहर से महाराष्ट्र में बिगड़ते हालात के बीच डिप्टी-सीएम अजीत पवार ने शुक्रवार देर रात सख्त लहजे में ऐलान किया कि लोग अगर प्रतिबंधों का पालन नहीं करेंगे, तो पिछले साल की तरह का लॉकडाउन लागू करना पड़ेगा।

मुंबई। कोरोना वायरस से देश में सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में नई लहर भी बेहद खतरनाक साबित हो रही है। नाइट कर्फ्यू के बाद आंशिक लॉकडाउन लगाने के बावजूद प्रदेश में रोजाना ताबड़तोड़ नए मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार ने ऐलान किया है कि अगर लोगों ने प्रदेश में कोरोना वायरस के चलते लागू पाबंदियों का सख्ती से पालन नहीं किया, तो पिछले वर्ष की तरह लॉकडाउन लगाना पड़ेगा।

BIG NEWS: बदलना पड़ेगी कोरोना वायरस से लड़ाई का तरीका! घर के भीतर भी मास्क पहनना होगा जरूरी

दरअसल, महाराष्ट्र में कोरोना के नए मामले और मौतों की संख्या रिकॉर्ड तेजी से बढ़ रही है। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस के 63,729 नए केस सामने आए हैं। जबकि इस दौरान 398 लोगों की मौत इस महामारी के चलते हो गई। अब महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 37,03,584 हो गई है, जिनमें 6,38,034 एक्टिव केस हैं।

ऐसे में महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार ने शुक्रवार देर रात पत्रकारों से बातचीत के दौरान सरकार द्वारा कड़ा रुख अख्तियार किए जाने का इशारा किया। पवार ने कहा, "निजी अस्पतालों में COVID-19 मरीजों के परिजन डॉक्टरों को संक्रमण की गंभीरता की परवाह किए बिना रेमेडिसविर की व्यवस्था करने का दबाव डालते हैं। मैं डॉक्टरों से केवल महत्वपूर्ण मामलों में ही रेमेडिसविर का इस्तेमाल करने का अनुरोध करता हूं और इसे व्यवस्थित करने के लिए कुछ भी करने की जरूरत नहीं है। हम उस पर काम कर रहे हैं।"

BIG NEWS: कोरोना वायरस ने बिगाड़ दिया महाराष्ट्र-दिल्ली का हाल, एक दिन में आए अब तक के रिकॉर्डतोड़ मामले

उन्होंने आगे कहा, "सभी विधायकों/एमएलसी को अपने निर्वाचन क्षेत्र में COVID-19 से संबंधित कार्यों के लिए अपने वार्षिक कोष से 1 करोड़ रुपये का इस्तेमाल करने की अनुमति दी गई है। हमने उन्हें पिछले साल के लिए अपने वार्षिक फंड से 50 लाख रुपये का इस्तेमाल करने की अनुमति दी थी।"

उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने सख्त लहजे में कहा, "अगर लोग वर्तमान में लगाए गए COVID-19 प्रतिबंधों का पालन नहीं करते हैं, तो हमें पिछले साल की तरह लॉकडाउन लागू करना पड़ सकता है।"

जरूर पढ़ें: होम आइसोलेशन में रहने वाले COVID-19 मरीजों के लिए जल्द ठीक होने का रामबाण नुस्खा

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे के दौरान 45,335 मरीज डिस्चार्ज हुए और अब तक कुल 30,04,391 लोग इस महामारी से निजात पा चुके हैं। इसके साथ ही प्रदेश में रिकवरी रेट 81.12 पहुंच गया है। प्रदेश में कोरोना से होने वाली मृत्यु दर 1.61 फीसदी है और अब तक यहां कुल 59,551 लोगों ने इस महामारी के चलते दम तोड़ दिया है।

महाराष्ट्र में अब तक कुल 2,33,08,878 सैंपल की जांच की गई, जिनमें 37,03,584 लोग पॉजिटिव पाए गए और पॉजिटिविटी रेट 15.89 है। प्रदेश में फिलहाल 35,14,181 लोग होम क्वारंटीन में हैं, जबकि 25,168 को इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन में रखा गया है।

coronavirus
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned