महाराष्ट्र-दिल्ली में कोरोना ने मचाया तहलका, एक दिन में 93 हजार से ऊपर केस और 600 से ज्यादा मौतें

देश में एक दिन में कोरोना के एक दिन में अब तक के सबसे ज्यादा केस और मौतें रिकॉर्ड की गई हैं। इससे महाराष्ट्र और दिल्ली में हाहाकार मच गया है और दोनों प्रदेशों में एक दिन में 600 से ज्यादा की मौतें हुई हैं।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की पहली लहर के दौरान शायद ही किसी ने सोचा हो कि अगली लहर में यह महामारी इस कदर कहर बरपाएगी। देश में कोरोना की नई लहर से सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों के दौरान 68,631 ताजा मामले जबकि 503 मौतें सरकार को परेशानी में ले गई हैं। वहीं, एक दिन में 25,000 से ज्यादा कोरोना के नए केस और 161 लोगों की मौत ने राजधानी दिल्ली को झकझोर डाला।

जरूर पढ़ेंः WHO ने दी चेतावनीः कोरोना के दौर ये 4 खतरनाक लक्षण दिखते ही तुरंत डॉक्टर से करें संपर्क

भारत में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के 2,61,500 ताजा मामले सामने आए हैं और 1,501 लोगों की कोरोना के चलते मौत हो गई है। यह देश में एक दिन में कोरोना के सर्वाधिक मामले और सर्वाधिक मौतें हैं। इसके साथ, भारत में मामलों की कुल संख्या 1,47,88,109 हो गई है। देश में एक्टिव मामले बढ़कर 18,01,316 पहुंच गए हैं।

रविवार को जारी महाराष्ट्र सरकार के हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक अब प्रदेश में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 38,39,338 तक पहुंच गई है। जहां शनिवार को प्रदेश में कोरोना के 67,123 नए मामलों रिकॉर्ड किए गए थे, रविवार को रिपोर्ट किए गए नए केसों ने अब तक के सारे पुराने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में दर्ज की गई 503 मौतें पिछले साल अक्टूबर के बाद सर्वाधिक हैं और यह कल से 84 अधिक हैं। इसके साथ ही महाराष्ट्र में मरने वालों की संख्या अब 60,473 हो गई है।

महाराष्ट्र में फिलहाल कोरोना वायरस के एक्टिव केस की संख्या 6,70,388 है। प्रदेश में अब तक कुल 2,38,54,185 सैंपल की टेस्टिंग की गई है, जिनमें से 38,39,338 को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है और इसके चलते प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 16.1 फीसदी पहुंच चुका है।

BIG NEWS: क्यों भारत में रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं कोरोना के नए केस, एम्स निदेशक ने बताया प्रमुख कारण

जरूर पढ़ेंः एम्स दिल्ली के निदेशक का बड़ा खुलासा, क्यों भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान सामने आ रहे रिकॉर्डतोड़ मामले

महाराष्ट्र में लगातार चौथा दिन है जब 24 घंटों में 60,000 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। जबकि राजधानी मुंबई में नए संक्रमण के 8,468 मामले सामने आए हैं और मेट्रो सिटी के कुल मामले बढ़कर 5,79,486 हो गए हैं। मुंबई में संक्रमण के कारण 53 मौतें दर्ज की गईं, जिससे अब तक कुल मरने वालों की संख्या 12,354 हो गई है। मुंबई में 87,698 सक्रिय मामले हैं।

दिल्ली का पॉजिटिविटी रेट बढ़कर हुआ 30%

दिल्ली हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक राजधानी में बीते 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 25,462 नए मामले सामने आए, जो आज तक के सर्वाधिक आंकड़े हैं। इसके साथ ही राजधानी में मामलों की कुल संख्या 8,53,460 तक पहुंच गई है। राष्ट्रीय राजधानी में भी पिछले 24 घंटों में 161 लोगों की इस महामारी से मौत हो गई है। वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस बढ़ोतरी को "प्रमुख चिंता" बताते हुए केंद्र सरकार से मदद की अपील की है।

एक दिन में नए मामलों में रिकॉर्डतोड़ बढ़ोतरी ने दिल्ली का पॉजिटिविटी रेट 24 फीसदी से बढ़ाकर करीब 30 फीसदी कर दिया है। दिल्ली में जिस तेजी से मामले बढ़ रहे हैं, उससे शहर के अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड की कमी हो गई है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और शहर भर में कोविड-19 बेड फुल हो रहे हैं। लोग अभूतपूर्व ढंग से अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं। आईसीयू बेड का एक बड़ा संकट है। दिल्ली में 100 से कम आईसीयू बेड बचे हैं।"

जरूर पढ़ेंः कोविड मरीजों की सच्चाई बताती इस लेडी डॉक्टर की पोस्ट वायरल, पढ़कर नहीं रुकेंगे आंसू

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी लिखा है जिसमें उन्होंने दिल्ली में कोविड-19 स्थिति को अत्यंत गंभीर बताया है। उन्होंने लिखा, "कोवि[-19 बेड और ऑक्सीजन की आपूर्ति की भारी कमी है… हमें आपकी मदद की ज़रूरत है। दिल्ली के केंद्रीय सरकारी अस्पतालों में सामूहिक रूप से लगभग 10,000 बिस्तर हैं, जिनमें से 1,800 कोविड-19 के लिए आरक्षित हैं। स्थिति की गंभीरता के मद्देनजर, मैं आपको कोविड-19 रोगियों के लिए कम से कम 7,000 बेड आरक्षित करने की अपील करता हूं। ऑक्सीजन की आपूर्ति में भी भारी कमी है। कृपया दिल्ली के लिए ऑक्सीजन की व्यवस्था करें।"

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned