scriptCoronavirus RT-PCR Test giving false reports due to mutants? Expert answers | क्या RT-PCR टेस्ट में निगेटिव रिपोर्ट का कारण म्यूटेंट है? विशेषज्ञ ने दिया सटीक जवाब | Patrika News

क्या RT-PCR टेस्ट में निगेटिव रिपोर्ट का कारण म्यूटेंट है? विशेषज्ञ ने दिया सटीक जवाब

locationनई दिल्लीPublished: Apr 23, 2021 06:14:06 pm

कई लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण होने के बावजूद उनकी आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट में निगेटिव रिजल्ट आ रहा है। इसके पीछे की वजह कोविड-19 के नए म्यूटेंट स्ट्रेन को बताया जा रहा है। जानिए क्या है हकीकत।

Coronavirus RT-PCR Test giving false reports due to mutants? Expert answers
Coronavirus RT-PCR Test giving false reports due to mutants? Expert answers
नई दिल्ली। देश में तेजी से बढ़ती कोविड-19 टेस्टिंग के बीच आरटी-पीसीआर परीक्षणों और नतीजों के लिए लंबे इंतजार के बीच इसकी झूठी निगेटिव रिपोर्टों पर चिंता व्यक्त की जा रही है। यह अनुमान लगाया जा रहा है कि नए म्यूटेंट स्ट्रेन के कारण भले ही कोई व्यक्ति वास्तव में कोरोना पॉजिटिव हो और उसमें संक्रमण के लक्षण हों, आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आ रही है।
Good News: कोरोना वायरस के कोहराम के बीच सामने आई बड़ी खुशखबरी, देश के दिग्गज डॉक्टर ने दी शानदार जानकारी

इस तरह की आशंकाओं को दूर करते हुए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स के निदेशक डॉ. अनुराग अग्रवाल ने पुष्टि की है कि यह संभव है कि एक कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आ जाए, लेकिन डबल म्यूटेंट स्ट्रेंन इसका कारण नहीं है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा किए गए एक ट्वीट में डॉ. अग्रवाल ने एक वीडियो में कहा, "डबल म्यूटेंट को पीसीआर पॉजिटिव के जरिए सीक्वेंस किया गया था। इसलिए यह संभव नहीं है कि म्यूटेंट आरटी-पीसीआर टेस्ट से बच जाए। तब हम इसका सीक्वेंस नहीं कर सकते थे।" #Unite2FightCorona
उन्होंने कहा, "दुनिया में सभी संभावित सीक्वेंस को नियमित रूप से जांचा जा रहा है और ऐसा कोई स्ट्रेन नहीं है जो डबल जीन टेस्टिंग से बच सके।"

उन्होंने आगे कहा, "लोगों को यह याद रखना चाहिए कि पीसीआर की संवेदनशीलता 70 प्रतिशत है। किसी के मुंह और नाक में वायरस का लोड लक्षण दिखाने से एक दिन पहले सबसे अधिक रहता है। फिर वायरस का लोड धीरे-धीरे कम हो जाता है। यदि लोग 7 से 8 दिनों के बाद देर से जांच करवाते हैं, तो नकारात्मक टेस्ट रिपोर्ट मिलना संभव है क्योंकि वायरस शरीर के अंदर जा सकता है।"
Don't Read: मत पढ़िए इस मुस्कुराती डॉक्टर की कहानी, कोरोना वायरस रोज दे रहा है दर्दभरी निशानी

डॉ. अग्रवाल ने कहा कि शरीर में लक्षण मौजूद होने के बावजूद टेस्ट में निगेटिव रिपोर्ट आना कोई नई बात नहीं है और ना ही किसी नए स्ट्रेन के कारण है। यह शुरुआत से ही ऐसा था कि यदि परीक्षण में देरी हुई तो टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आ सकती है।
RT-PCR (रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन-पॉलीमरेज़ चेन रिएक्शन) टेस्ट को कोविड-19 का पता लगाने में काफी बेहतर माना जाता है और इसीलिए केंद्र सभी राज्यों से आरटी-पीसीआर परीक्षण का प्रतिशत बढ़ाने के लिए कह रहा है, लेकिन अगर किए जा रहे सभी परीक्षणों को ध्यान में रखा जाए तो इसकी संवेदनशीलता 70 प्रतिशत से ज्यादा नहीं है।
जरूर पढ़ें: होम आइसोलेशन में रहने वाले COVID-19 मरीजों के लिए जल्द ठीक होने का रामबाण नुस्खा

डबल म्यूटेंट दो म्यूटेटेड स्ट्रेन द्वारा बना एक नया स्ट्रेन है। भारत में महाराष्ट्र और दिल्ली सहित कई राज्यों में इसकी मौजूदगी पाई गई है। E484Q और L452R स्ट्रेन ने मिलकर डबल स्ट्रेन बनाया है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

सिर्फ 15 इंच जमीन के लिए चाची ने नाबालिग भतीजी को जिंदा जलायाएक दिसंबर से बदल जाएंगे ये नियम, घट सकता है जेब का बोझFIFA 2022 : मोरक्को से हारने पर बेल्जियम में दंगा, पथराव के दौरान दागे आंसू गैस के गोले, कई गिरफ्तारबाबा रामदेव के बयान पर भाजपा सांसद का ट्वीट, जाको प्रभु दारुण दुख देही, ताकि मत पहले हर लेहीराजस्थान: पार्टी में फूट का डर से बैकफुट पर कांग्रेस, गहलोत खेमा शांत, पायलट समर्थक मुखरगुजरात चुनाव में पीएम मोदी का धुआंधार प्रचार आज करेंगे चार रैलियांश्रद्धा मर्डर केस: आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट आजअनमोल का दिल अहमदाबाद में धड़केगा, लिवर इंदौर के मरीज को लगेगा, पांच लोगों को मिलेगा नया जीवन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.