script Coronavirus Third Wave : इसी महीने आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, IIT प्रोफेसर्स की रिपोर्ट में दावा | Coronavirus Third Wave : IIT professors report claims Corona third wave may come this month | Patrika News

Coronavirus Third Wave : इसी महीने आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, IIT प्रोफेसर्स की रिपोर्ट में दावा

locationनई दिल्लीPublished: Aug 02, 2021 11:12:53 am

देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दे दी दस्तक! रिपोर्ट में बताया किस महीने पीक पर आएगी, CSIR प्रमुख ने दिया खास सुझाव

coronavirus third wave hit in India
Coronavirus in India
नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ( Coronavirus Third Wave ) की आहट के बीच बड़ी खबर सामने आई है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इसी महीने कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो गई है। यही नहीं इस रिपोर्ट में तीसरी लहर पीक पर कब आएगी इसका भी खुलासा किया गया है।
दरअसल ये दावा हैदराबाद और कानपुर में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान ( IIT ) में मथुकुमल्ली विद्यासागर और मनिंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में किए गए शोध में किया गया है।
यह भी पढ़ेंः कोरोना वैक्सीन लगवाने वालों को कैश प्राइज से लेकर गाय जीतने का मौका, कई देशों में दिए जा रहे आकर्षक ऑफर

आईआईटी प्रोफेसर की ओर से किए इस शोध की रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त के महीने में देश में तीसरी लहर असर दिखाना शुरू कर देगी। इस दौरान रोजाना कोविड के एक लाख नए मामले सामने आ सकते हैं। बहुत खराब स्थिति में यह संख्या डेढ़ लाख प्रतिदिन तक पहुंच सकती है।
बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान रोजाना करीब पांच लाख तक नए केस सामने आ रहे थे। इस लिहाज से तीसरी लहर को लेकर ये आंकड़ा थोड़ी राहत जरूर दे रहा है।
वहीं इस रिपोर्ट में ये दावा किया गया है कि अक्टूबर में तीसरी लहर का पीक देखने को मिल सकता है। विद्यासागर ने रिपोर्ट में इस बात की भी खुलासा किया है कि किन राज्यों की वजह से तीसरी लहर का पीक आएगा। उनकी रिपोर्ट के मुताबिक केरल और महाराष्ट्र जैसे राज्यों के चलते स्थिति फिर गंभीर हो सकती है।
हालांकि यह संभावना जताई जा रही है कि कोविड -19 की तीसरी लहर, इसी साल आई दूसरी लहर की तरह घातक नहीं होगी।
इसी साल मई में IIT हैदराबाद के एक प्रोफेसर विद्यासागर ने कहा था कि भारत के कोरोनावायरस का प्रकोप मैथेमेटिकल मॉडल के आधार पर कुछ दिनों में पीक पर हो सकता है।
ब्लूमबर्ग के मुताबिक, विद्यासागर ने बताया था ‘हमारा मानना है कि कुछ दिनों में पीक आ जाएगा।
जून को लेकर गलत साबित हुआ अनुमान
विद्यासागर की टीम का जून को लेकर किय गया अनुमान गलत साबित हुआ है। पहले उनका अनुमान था कि जून महीने के मध्य तक कोविड वेव पीक पर होगी। उन्होंने तब ट्विटर पर लिखा था कि ऐसा गलत पैरामीटर्स के चलते हुआ क्योंकि एक हफ्ते पहले तक कोविड तेजी से बदल रहा था।’
CSIR ने दिए सुझाव
उधर कोरोना की तीसरी लहर को लेकर वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ. शेखर सी मांडे ने कहा कि निश्चित रूप से थर्ड वेव आ रही है। लेकिन यह अनुमान लगाना काफी कठिन है कि यह कब आएगी।
मांडे ने सुझाव दिया कि, वैक्सीनेशन और मास्क पहनने से तीसरी लहर की तीव्रता को सीमित किया जा सकता है। वायरस का डेल्टा प्लस वेरिएंट चिंता का विषय नहीं है, बस अलर्ट रहने की जरूरत है।
सीएसआईआर प्रमुख ने देश के लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है।
यह भी पढ़ेंः Corona Vaccination: एक ही इंसान को लगेंगी दो अलग-अलग वैक्‍सीन डोज, सरकार ने दी ट्रायल की मंजूरी
बीते 24 घंटों में कोरोना का हाल
देश में पिछले 24 घंटे में 40, 134 नए मामले पाए गए हैं और 424 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 36,946 लोग ठीक हुए। 422 लोगों ने कोरोना चलते बीते 24 घंटे में अपनी जान गंवाई है। देश में अब तक कोरोना के कुल 31,695,368 पुष्ट मामले पाए गए हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो