खत्म नहीं हुई कोरोना की दूसरी लहर, देश के 18 जिलों में बढ़ते मामलों से बढ़ी चिंता: स्वास्थ्य मंत्रालय

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देशभर में कोरोना के मामलों में गिरवाट दर्ज की जा रही है, लेकिन कुछ जिलों में बढ़ते मामले लागातार चिंता बढ़ा रही है। मंत्रालय ने कहा कि हर दिन 100 से अधिक नए मामले दर्ज किए जाने वाले जिलों की संख्या में भी कमी आई है।

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान को तेजी के साथ आगे बढ़ाया जा रहा है, लेकिन इसके बावजूद भी अभी कई राज्यों के कुछ जिलों में हालात खराब हैं और तेजी के साथ नए मामले फिर से बढ़ने लगे हैं। ऐसे में स्वास्थ्य मंत्रालय ने चेतावनी जारी की है और कहा है कि अभी कोविड की दूसरी लहर खत्म नहीं हुई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि ,देशभर में कोरोना के मामलों में गिरवाट दर्ज की जा रही है, लेकिन कुछ जिलों में बढ़ते मामले लागातार चिंता बढ़ा रही है। मंत्रालय ने कहा कि हर दिन 100 से अधिक नए मामले दर्ज किए जाने वाले जिलों की संख्या में भी कमी आई है।

यह भी पढ़ें :- केंद्र ने केरल में भेजी थी एक्सपर्ट टीम, लौटकर आए सदस्यों ने बताया कि क्यों हुआ वहां कोरोना विस्फोट

जहां एक जून को देश में ऐसे 279 जिले थे, जहां पर प्रतिदिन 100 से अधिक नए मामले सामने आ रहे थे, लेकिन अब इन जिलों की संख्या घटकर 57 रह गई है। इन 57 जिलों में अभी हर दिन 100 से अधिक नए मामले दर्ज किए जा रहे हैं।

केरल सबसे अधिक प्रभावित

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अभी जिन राज्यों के कुथ जिलों में सबसे अधिक कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं, उनमें केरल सबसे आगे है। केरल के 10 जिले समेत पूरे देश में ऐसे 18 जिले हैं जहां प्रतिदिन 100 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। अभी देशभर में प्रतिदिन दर्ज होने वाले कुल नए मामलों में 47.5 फीसदी केस सिर्फ इन 18 जिलों से सामने आ रहे हैं।

मंत्रालय ने बताया कि देशभर के ऐसे 44 जिले हैं जहां की पॉजिटिविटी दर 10 फीसदी से अधिक है। इनमें केरल, मणिपुर, मिजोरम और नगालैंड के जिले शामिल हैं। केरल के 10 जिले तो महाराष्ट्र के 3 और मणिपुर के 2 जिलों में पॉजिटिविटी दर दस फीसदी से अधिक है।

अब तक करीब 48 करोड़ डोज लगाए गए

वैक्सीनेशन के संबंध में स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि देश में अब तक कुल 47.85 करोड़ डोज दी गईं, जिसमें 37.26 करोड़ पहला डोज और 10.59 करोड़ दूसरा डोज शामिल हैं।

मई के महीने की तुलना में जून में वैक्सीनेशन की संख्या अधिक बढ़ी है। मई में जहां 19.6 लाख और जुलाई में 43.41 लाख डोज लगाई गई थी, वहीं जुलाई में प्रशासित टीके की कुल खुराक मई की तुलना में दोगुने से अधिक है।

यह भी पढ़ें :- खतरा बढ़ा: करीब ढाई महीने बाद 1 को पार कर गई आर वैल्यू, प्रत्येक कोरोना पॉजिटिव एक व्यक्ति को कर सकता है संक्रमित

लव अग्रवाल ने बताया कि ऐसे कुछ राज्य हैं जहां 3 करोड़ से अधिक टीकाकरण खुराक की आपूर्ति की गई है। उत्तर प्रदेश को सबसे अधिक 4.88 करोड़ खुराक, महाराष्ट्र को 4.5 करोड़ और गुजरात को 3.4 करोड़ डोज दी गई है। उन्होंने कहा कि अभी भी दुनियाभर में कोरोना के नए मामलों की बड़ी संख्या सामने आ रही है और महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। भारत की बात करें तो यहां पर भी अभी कोविड की दूसरी लहर खत्म नहीं हुई है।

COVID-19 virus
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned