गाजियाबाद और नोएडा में एक्टिव कोरोना केस घटे, जल्दी हट सकता है कर्फ्यू

राज्य सरकार के आदेशानुसार जिन स्थानों पर प्रतिदिन के 600 से कम केसेज हैं वहां पर कर्फ्यू हटाने की छूट दी जा रही है। फिलहाल राज्य के 70 से अधिक जिलों में कर्फ्यू में ढील दी जा चुकी है।

नई दिल्ली। नोएडा तथा गाजियाबाद में घटते कोरोना केसेज को देखते हुए जल्दी ही इन्हें अनलॉक करने की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। शनिवार को नोएडा में कोरोना के 610 तथा गाजियाबाद में 630 केस सामने आए हैं। ऐसे में राज्य सरकार के दिशा निर्देशों को देखते हुए जल्दी ही यहां से कर्फ्यू हटाया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार के आदेशानुसार जिन स्थानों पर प्रतिदिन के 600 से कम केसेज हैं वहां पर कर्फ्यू हटाने की छूट दी जा रही है। फिलहाल राज्य के 70 से अधिक जिलों में कर्फ्यू में ढील दी जा चुकी है।

यह भी पढ़ें : जिंदा वायरस और बैक्टीरिया का प्रयोग कर बनाई जाती है वैक्सीन, इस तरह करती है काम

यह भी पढ़ें : नई खोज: अब प्रयोगशाला में भी तैयार होगा मां का दूध, ब्रेस्ट मिल्क की तरह होंगे पोषक तत्व, जानिए बाजार में कब तक आएगा

इस माह की शुरूआत में यहां कोरोना की रफ्तार बहुत ज्यादा थी। एक जून को ही गाजियाबाद में एक हजार से अधिक एक्टिव केस सामने आए थे जो शनिवार को 631 ही रह गए। ऐसे में माना जा रहा है कि राज्य में कोरोना को शीघ्र ही नियंत्रित कर लिया जाएगा। ऐसे में जिले से कर्फ्यू भी पूरी तरह से हटाए जाने की संभावनाएं बन रही हैं। डीएम आर. के. सिंह ने बताया कि केसेज की संख्या 600 से कम होने पर राज्य सरकार से सलाह कर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

इसी तरह नोएडा में भी कोरोना पीड़ितों की संख्या में कमी आ रही है। इस माह की एक तारीख को लगभग 950 केस थे जो शनिवार को 610 के ही रह गए। संभावना जताई जा रही है कि अगले सप्ताह तक इस संख्या में और भी कमी आ सकती है।

एक्टिव कोरोना केसेज और नए कोरोना केसेज में कमी को देखते हुए व्यापारी वर्ग में भी उम्मीद जगी है कि जल्दी ही वे अपने व्यापारिक प्रतिष्ठानों और दुकानों को खोल पाएंगे। उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते काफी समय से उनका व्यापार ठप पड़ा है जिसके चलते उन्हें काफी नुकसान हो रहा है। माना जा रहा है कि कर्फ्यू हटने के बाद उनके व्यापार में एक बार फिर से तेजी देखने को मिलेगी और वे कुछ हद तक अपने नुकसान की भरपाई कर पाएंगे।

Corona virus
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned