Parliament Monsoon Session: चीन से विवाद पर कुछ देर में राज्यसभा में राजनाथ सिंह देंगे बयान

  • चीन के साथ विवाद पर राज्यसभा में रक्षामंत्री Rajnath Singh का बयान
  • मंगलवार को राजनाथ सिंह ने लोकसभा में चीन के साथ चल रहे तनाव पर दिया था बयान
  • सिंह ने कहा- देश की संप्रमुभता और अंखडता की रक्षा के लिए किसी तरह का समझौता नहीं होगा

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ( Rajnath Singh ) अब से कुछ देर में संसद के मानसून सत्र के तीसरे दिन राज्यसभा में चीन के साथ सीमा पर चल रहे विवाद को लेकर अपना बयान देंगे। इससे पहले रक्षा मंत्री ने मंगलवार को लोकसभा में पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ चल रहे विवाद को लेकर बयान दिया था।

सिंह ने इसकी पूरी जानकारी 15 सितंबर को लोकसभा में दी। रक्षा मंत्री ने बताया कि सीमा पर चीन के साथ किस तरह भारतीय सेना और सरकार मजबूती से सामना कर रही है।

लोकसभा में राजनाथ सिंह के चीन पर विवाद के बयान के बाद बौखलाया ड्रैगन, चीनी मीडिया ने दे डाली ये चेतावनी

इससे पहले लोकसभा में चीन के साथ चल रहे विवाद को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा था कि भारत शांतिपूर्ण तरीके से सीमा मुद्दे के हल के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन पड़ोसी देश की ओर से यथास्थिति में एकतरफा ढंग से बदलाव का कोई भी प्रयास स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत मुद्दे का शांतिपूर्ण ढंग से हल करना चाहता है, लेकिन देश की संप्रभुता और रक्षा के लिए किसी भी तरह का समझौता करने को तैयार नहीं है।

लोकसभा में प्रस्ताव पारित करने की कही बात
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में अपने बयान के साथ-साथ संसद में ये आग्रह भी किया कि हमें एक प्रस्ताव पारित करना चाहिए कि हम अपने वीर जवानों के साथ कदम-से-कदम मिलाकर खड़े हैं, जो कि अपनी जान की परवाह किए हुए बगैर देश की चोटियों की उचाइयों पर विषम परिस्थितियों के बावजूद भारत माता की रक्षा कर रहे हैं।

रक्षा मंत्री ने कहा कि हमने चीन को कूटनीतिक और सैन्य चैनलों से भी अवगत करा दिया है। साथ ही यथास्थिति को एकतरफा तरीके से बदलने का प्रयास किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं होगा।

उधर...लोकसभा में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के बयान ने भले ही विपक्ष को संतुष्ट ना किया हो, लेकिन चीन की परेशानी जरूर बढ़ा दी है। यही वजह है कि रक्षामंत्री के बयान के बाद चीनी मीडिया से प्रतिक्रिया सामने आई है।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि भारत के रक्षा मंत्री का बयान उकसाने वाला है और इससे सीमा पर सर्दियों के मौसम में तनाव बहुत बढ़ सकता है।

बॉलीवुड में ड्रग मामले पर भिड़े दो दिग्गज सांसद, जानें फिर क्या हुआ

अखबार ने विशेषज्ञ के हवाले से लिखा है कि- लद्दाख सीमा पर तनाव के हालात जल्द खत्म होते नहीं दिख रहे हैं। भारत के रक्षा मंत्री अपने बयानों से नागरिकों को इस बात का भरोसा दिलाना चाहते हैं कि उनकी सेना और सरकार पूरी तरह तैयार है।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned