नहीं लगेगा नेशनल लॉकडाउन! देश के 180 जिलों में एक हफ्ते में कोई नया केस नहीं

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रा डॉ. हर्षवर्धन ने शनिवार को एक बयान में कहा कि पिछले सात दिनों में देश के 180 जिलों में COVID-19 का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है। जबकि पिछले दो सप्ताह में 18 जिलों में संक्रमण का कोई नया मामला दर्ज नहीं किया गया है।

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों ने जहां चिंताएं बढ़ा दी हैं, वहीं दूसरी तरफ एक खुशी की भी खबर सामने आई है। दरअसल, जहां एक ओर देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामले काफी तेजी के साथ बढ़ रहे हैं और हर दिन रिकॉर्ड स्तर पर नए केस सामने आ रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ देश के 180 जिलों में बीते सात दिनों से कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शनिवार को एक बयान में कहा कि पिछले सात दिनों में देश के 180 जिलों में COVID-19 का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है। जबकि पिछले दो सप्ताह में 18 जिलों में संक्रमण का कोई नया मामला दर्ज नहीं किया गया है। इतना ही नहीं पिछले 21 दिनों में 54 जिलों में एक भी कोरोना संक्रमण का नया मामला सामने नहीं आया है।

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट ने देशभर में ऑक्सीजन व दवाओं के वितरण के लिए राष्ट्रीय टास्क फोर्स का किया गठन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में भारत कोरोना संक्रमण के 4,01,078 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही देश में अब कुल 2,18,92,676 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जबकि इसी समयावधि में 3,18,609 डिस्चार्ज हुए हैं, जिसके बाद डिस्चार्ज किए गए कुल मरीजों की संख्या 1,79,30,960 हो गया है।

देशभर में पिछले 24 घंटों में 4,187 लोगों की मौत हुई है, जिसके बाद देश में मरने वालों की कुल संख्या 2,38,270 हो गई है। वर्तमान में भारत में 37,23,446 सक्रिय कोरोना वायरस मामले हैं। बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच देशभर में तेजी के साथ टीकाकरण अभिया को आगे बढ़ाया जा रहा है। 7 मई तक देश में 16,73,46,544 टीकाकरण की खुराक दी जा चुकी है।

नहीं लगेगा राष्ट्रीय लॉकडाउन

आपको बता दें कि कई राज्यों में व्यापक स्तर पर कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद से राष्ट्रीय लॉकडाउन की सुगबुगाहट एक बार फिर से तेज हो गई है। लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय लॉकडाउन के संकेत नहीं मिल रहे हैं।

हालांकि, कोरोना के बढ़ते नए मामलों के बीच तमाम राज्यों ने अपने-अपने स्टेट में कर्फ्यू, नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन या फिर पूर्ण लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू की हैं। इसके अलावा भी अन्य कई तरह की पाबंदिया लगाई गई हैं, ताकि कोरोना संक्रमण को नियंत्रित किया जा सके।

इन राज्यों में लागू हैं कर्फ्यू या लॉकडाउन

गोवा: - गोवा 23 मई तर के लिए कर्फ्यू लगाया गया है। मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शुक्रवार को कहा, गोवा में 9 मई से 23 मई तक राज्य स्तरीय कर्फ्यू लगाया जाएगा। कोविड चेन को तोड़ने के लिए लोगों से अधिक से अधिक घर के अंदर रहने का आग्रह किया है। कर्फ्यू के दौरान किराने की दुकानों सहित आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाले स्टोर सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक खुले रहने दिए जाएंगे। मेडिकल स्टोर भी खुले रहेंगे और रेस्तरां रसोई को सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक खुले रहने की अनुमति होगी।

मध्य प्रदेश :- मध्य प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने सीमावर्ती चार राज्यों की बस परिवहन सेवा को 15 मई तक बंद रखने का फैसला लिया है। पहले इन राज्यों की बस परिवहन सेवा को सात मई तक के लिए बंद किया गया था। राज्य के परिवहन विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश के मुताबिक मध्य प्रदेश से उत्तर प्रदेष, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और महारष्ट्र के बीच जारी बस परिवहन सेवा अब 15 मई तक बंद रहेगी। पूर्व में यह सात मई तक के लिए बंद रखने का फैसला लिया गया था।

यह भी पढ़ें :- केंद्र सरकार की बड़ी घोषणा, कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती संबंधी नियमों में बड़ा बदलाव

कर्नाटक:- कर्नाटक में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर पूर्ण लॉकडाउन लगाने की घोषणा की गई है। कनार्टक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि जैसा कि राज्य में कोरोना केस लगातार बढ़ रहे हैं और कोरोना कर्फ्यू सफल नहीं हो पाया है। तो, 10 मई को सुबह 6 बजे से 24 मई की सुबह 6 बजे तक पूर्ण लॉकडाउन किया जाएगा। इस दौरान सभी होटल, पब और बार बंद रहेंगे। भोजनालय, मांस की दुकानें और सब्जी की दुकानें सुबह 6-10 बजे से संचालित हो सकती हैं।

तेलंगाना:- तेलंगाना में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच 15 मई तक के लिए नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। तेलंगाना सरकार राज्य में लगातार बढ़ रहे कोरोना केसों के चलते राज्य भर में 15 मई तक नाइट कर्फ्यू लगाया है। नाइट कर्फ्यू रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा। उन्होंने बताया कि कोरोना प्रोटोकॉल के अवलोकन के साथ, शादियों में अधिकतम 100 लोगों को अनुमति दी गई जबकि 20 लोगों ने अंतिम संस्कार की अनुमति दी है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned