SC के पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के Corona Positive होने की Fake News हुई वायरल, पूरी तरह स्वस्थ्य हैं पूर्व CJI

  • Supreme Court के पूर्व चीफ जस्टिस Ranjan Gogoi के Corona Positive होने की Fake News सोशल मीडिया पर हुई वायरल
  • बार बेंच ने ट्वीट के जरिए किया खबरों का खंडन
  • बताया पूरी तरह स्वस्थ्य है पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court ) के पूर्व मुख्य न्यायाधीश ( Former Chief Justice ) रंजन गोगोई ( Ranjan Gogoi ) और वर्तमान राज्यसभा सदस्य के कोविड-19 ( Covid 19 ) पॉजिटिव होने की फेक न्यूज ( Fake News ) सोशल मीडिया ( Social Media ) पर वायरल हो रही है। इसको लेकर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स भी सामने आई हैं। हालांकि इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है।

इन खबरों को लेकर बार एंड बेंच की ओर से ट्वीट कर जानकारी साझा की गई है। सोशल मीडिया और कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ये गलत खबर चल रही है कि सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। ऐसा कुछ भी नहीं है। पूर्व सीजेआई ( CJI ) पूरी तरह स्वस्थ्य हैं।

राम रंग में रंगे पीएम मोदी, तस्वीरों में देखें भूमि पूजन के लिए प्रधानमंत्री का खास अंदाज

मानसून को लेकर जारी हुई अलर्ट, देश के इन राज्यों में भारी बारिश की मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी, जानें अपने इलाके का हाल

आपको बता दें कि सोशल मीडिया लगातार इस तरह की फेक न्यूज सामने आ रही हैं। इसी कड़ी में बुधवार को राम मंदिर भूमि पूजन समारोह से पहले ये खबर सामने आई कि सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई कोविड-19 संक्रमित हैं।

हालांकि ये खबर पूरी तरह फेक थी। बार बेंच की ओर से ट्वीटर पर ये जानकारी साझा की गई है कि रंजन गोगोई की सेहत बिल्कुल ठीक है और सोशल मीडिया पर उनके कोरोना संक्रमित होने की जो खबरें सामने आई हैं वो पूरी तरह गलत हैं।

आपको बता दें कि रंजन गोगोई ने अक्टूबर 2018 और नवंबर 2019 के बीच भारत के मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्य किया। इस दौरान उन्होंने ऐतिहासिक अयोध्या भूमि विवाद मामले की अध्यक्षता की थी। जहां सुप्रीम कोर्ट की पांच-न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने सर्वसम्मति से एक विवादित अयोध्या भूखंड को एक ट्रस्ट को आवंटित करने का फैसला किया था जो वहां राम मंदिर के निर्माण की देखरेख करेगा।

दरअसल ये पहला मामला नहीं है। हाल में उत्तराखंड में लॉकडाउन को लेकर भी फेक खबरें तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं। हालांकि इसके बाद उत्तराखंड सरकार इस खबर का खंडन करते हुए इसको लेकर सही जानकारी साझा की थी।

इसी तरह बिहार में भी संपूर्ण लॉकडाउन लगाए जाने की फेक खबर सामने आई थी। इस पर नीतीश सरकार ने तुरंत एक्शन लेते हुए सही जानकारी जारी की थी।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned