scriptFacebook to curb hate speech in India during Assembly Elections | फेसबुक ने लिया बड़ा फैसला, चुनाव में नफरत फैलाने वाले मैसेज हटाए जाएंगे | Patrika News

फेसबुक ने लिया बड़ा फैसला, चुनाव में नफरत फैलाने वाले मैसेज हटाए जाएंगे

सोशल मीडिया का कहना है कि नियमों का उल्लंघन करने वाली सामग्री को फैलने से रोकने के लिए एक खास तकनीक का भी इस्तेमाल किया जाएगा।

नई दिल्ली

Published: March 31, 2021 06:12:15 pm

नई दिल्ली। फेसबुक ने चार राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में चुनावों के मद्देनजर नफरत फैलाने वाले संदेशों की पहचान शुरू कर दी है। इसके तहत ऐसे संदेशों को पहचानकर हटाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए सोशल मीडिया थर्ड पार्टी का भी सहारा ले रही है।
facebook
पश्चिम बंगाल और असम में चुनाव का पहला चरण 27 मार्च को हो चुका है। वहीं केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में 6 अप्रैल को चुनाव होंगे। चुनाव परिणाम 2 मई को घोषित किए जाने हैं। पश्चिम बंगाल में आठ चरण और असम में मतदान के दो और दौर अभी बाकी हैं।
ये भी पढ़ें: हाथ में पिस्टल लहराते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट डालना पड़ा भारी, पुलिस ने आरोपी को दबोचा

एक सक्रिय तकनीक में निवेश किया गया है

फेसबुक पर 400 मिलियन उपयोगकर्ताओं हैं। इसके साथ भारत को वह अपना सबसे बड़ा बाजार बताता आया है। सोशल मीडिया का कहना है कि नियमों का उल्लंघन करने वाली सामग्री को फैलने से रोकने के लिए एक सक्रिय तकनीक में निवेश किया गया है। सोशल मीडिया के अनुसार जल्द नफरत फैलाने वाले भाषणों से जुड़े नए शब्दों की पहचान की जाएगी। इसके लिए नई तकनीक का इस्तेमाल हो रहा है।
कंपनी ने अपनी नीतियों का बार-बार उल्लंघन करने वाले खातों से सामग्री के वितरण को रोकने भी वादा किया है। गलत सूचनाओं से निपटने के लिए सोशिल मीडिया ने आठ थर्ड पार्टियों को इस कम पर लगाया है। इनका काम होगा कि ये सभी फैक्ट्स को जांचकर इसे रोकने में मदद करेंगी। इसके साथ ऐसे यूजर की पहचान भी करेंगी।
नफरत और भड़काने वाले बयानों को रोकने का प्रयास

इससे पहले हुए चुनावों में भी फेसबुक नफरत और भड़काने वाले बयानों को रोकने का प्रयास करता रहा है। चुनाव में कई बार इसके माध्यम से आचार सहिंता के उल्लंघन के मामले भी सामने आए हैं। सोशल मीडिया पर इन दिनों चुनाव से संबंधि कई अपात्तिजनक जानकारियां सामने आ रही हैं। इसे लेकर चुनाव आयोग ने भी सख्त रवैया अपनाया हुआ है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज7,500 स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया सबसे बड़ा ह्यूमन फ्लैग, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नामबिहारः सत्ता गंवाते ही NDA के 3 सांसद पाला बदलने को तैयार, महागठबंधन में शामिल होने की चल रही चर्चा'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञानPM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकातजम्मू कश्मीर में टेरर लिंक मामले में बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्त2009 में UPSC किया टॉप, 2019 में राजनीति के लिए नौकरी छोड़ी, अब 2022 में फिर कैसे IAS बने शाह फैसल?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.