कृषि कानूनों पर केंद्र सरकार के रुख से नाराज किसान ने आत्महत्या की

Highlights

  • सिंघु बॉर्डर पर देर शाम हुई इस घटना से किसान आहत।
  • किसानों ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए।

नई दिल्ली। कृषि कानूनों पर केंद्र सरकार के रुख से नाराज एक और किसान ने शनिवार को सल्फास खाकर आत्महत्या कर ली। सिंघु बॉर्डर पर देर शाम हुई इस घटना से किसान आहत और गुस्से में हैं।

किसान की मौत की खबर के बाद सीमा पर किसानों ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए। यह पहला मौका था, जब कानूनों के खिलाफ किसी किसान ने आत्महत्या की हो। इससे पहले किसानों के समर्थन में एक संत के अलावा एक और किसान आत्महत्या कर चुके है।

पीएम मोदी की उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया फैसला, 16 जनवरी से देशभर में शुरू होगा वैक्सीनेशन

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सिंघु बॉर्डर पर शनिवार देर शाम जब मंच से वक्ताओं का कार्यक्रम खत्म हुआ। उसी समय पंजाब के फतेहगढ़ साहिब से आए करीब 40 साल के अमरिंदर सिंह ने मंच के पीछे सल्फास खा लिया। वह चिल्लाते हुए मंच के सामने आया। कुछ बोलते-बोलते वहीं बेहोश होकर वहीं गिर पड़ा। उनके मुंह से झाग निकल रहा था।

उसे नजदीक के फ्रैंक इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज अस्पताल इलाज के लिए ले जाया गया। संयुक्त किसान मोर्चा के मुताबिक, इलाज के दौरान शाम करीब साढ़े सात बजे उनकी मौत हो गई।

Narendra Modi pm modi
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned