Farmer Protest : बारिश के बाद जलभराव ने बढ़ाई किसानों की परेशानी

  • शीतलहर के बीच भारी बारिश ने बढ़ाई परेशानी।
  • राकेश टिकैत ने की किसान भाईयों से पॉलीथिन और त्रिपाल लेकर आने की अपील।

नई दिल्ली। दिल्ली बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को शीतलहर के बाद अब बरसात की मार भी झेलनी पड़ रही है। दिल्ली बॉर्डर पर रविवार सुबह आई बारिश ने किसानों की परेशानी बढ़ा दी है। किसानों द्वारा बनाए गए तम्बुओं में पानी भरने लगा और ओढ़ने के कंबल भी भींगने लगे। जलभराव की वजह से नई मुसीबत उठ खड़ी हुई है।

अब योगेंद्र यादव ने दी केंद्र को चेतावनी, कहा - कृषि कानूनों को वापस न लेने पर निकालेंगे किसान गणतंत्र परेड

रविवार सुबह दिल्ली एनसीआर में झमाझम बारिश हुई। गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसान जहां एक तरफ सर्द भरी हवाओं से जूझ रहे थे तो वहीं अचानक आई बारिश ने किसानों की समस्याओं को दोगुना बढ़ा दिया। धरने पर बैठी महिलाओं, बच्चों और बुजुर्ग किसानों को बारिश की माल झेलनी पड़ी। किसानों की व्यवस्थाओं पर बारिश ने पानी फेर दिया।

गाजीपुर बॉर्डर पर सुबह हुई बारिश के हालातों और किसानों की स्थिति बताते हुए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बताया कि जैसे पहाड़ों पर बारिश का पानी नीचे गिरता है उसी तरह यहां की स्थिति बनी हुई है। किसानों के टेंट यहां लगे हुए हैं। किसान यहां बीते एक महीने से रह रहे हैं। मैं किसान भाइयों से अपील करता हूं जो भी किसान गाजीपुर बॉर्डर पर आएं, वो अपने ट्रैक्टर पर पॉलीथिन, त्रिपाल अन्य सारी चीजें लेकर आएं।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned