scriptGovt boosts Black Fungas Mucormycosis medicine Amphotericin B production | केंद्र सरकार का बड़ा कदम, ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए कारगर Amphotericin B का उत्पादन बढ़ाने के निर्देश | Patrika News

केंद्र सरकार का बड़ा कदम, ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए कारगर Amphotericin B का उत्पादन बढ़ाने के निर्देश

कोरोना वायरस से ठीक हो चुके मरीजों को निशाना बना रहे ब्लैक फंगस या फिर म्यूकॉर्माइकोसिस के इलाज में इस्तेमाल होने वाली एंफोटेरिसिन बी दवा की बढ़ती मांग के बीच केंद्र सरकार ने इसका उत्पादन बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

नई दिल्ली

Updated: May 12, 2021 08:41:47 pm

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की इस नई लहर के दौरान ब्लैक फंगस यानी म्यूकॉर्माइकोसिस के मरीजों की बढ़ती संख्या ने चिकित्सकों की चिॆंताएं बढ़ा दी हैं। लेकिन केंद्र सरकार के ताजा कदम ने इन मरीजों को राहत दी है। सरकार ने समय रहते इससे बचाव के लिए इसके इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली दवा एमफोटेरिसिन बी का उत्पादन तेज करने के निर्देश हैं।
Mucormycosis fungus, Coronavirus survivor, COVID-19 survivor, COVID-19 Survivors In Hindi, new problems, coronavirus,
Mucormycosis fungus, Coronavirus survivor, COVID-19 survivor, COVID-19 Survivors In Hindi, new problems, coronavirus,
जरूर पढ़ें: 2015 में दी थी कोरोना महामारी की चेतावनी और अब बिल गेट्स ने की दो भविष्यवाणी

दरअसल चिकित्सकों द्वारा Mucormycosis से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए दी जा रही एंफोटेरिसिन बी की कुछ राज्यों में मांग में अचानक वृद्धि देखने को मिली हैा। कोरोना वायरस संक्रमित होने के बाद लोगों में देखने को मिल रही इस बीमारी की जटिलता को देखते हुए केंद्र सरकार ने यह कदम उठाया है।
निर्माताओं से इस दवा के उत्पादन में तेजी लाने के निर्देश देते हुए केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि इस दवा के अतिरिक्त आयात और घरेलू स्तर पर इसके उत्पादन में वृद्धि के साथ आपूर्ति की स्थिति में सुधार की उम्मीद है।
मंत्रालय ने कहा कि इसके अलावा निर्माताओं/आयातकों के साथ स्टॉक की स्थिति और एम्फोटेरिसिन बी के मांग पैटर्न की समीक्षा करने के बाद फार्मा विभाग ने 11 मई 2021 को इस दवा को राज्यों/संघ शासित्र प्रदेशों के बीच अपेक्षित आपूर्ति के आधार पर आवंटित किया था, जो कि 10 मई से 31 मई, 2021 तक उपलब्ध होगी।
Must Read: कोरोना से ठीक होने वाले लोगों को अपना शिकार बना रहा यह खतरनाक वायरस, डॉक्टर्स हुए हैरान

इसके साथ यह भी बताया कि राज्यों से सरकारी और निजी अस्पतालों और स्वास्थ्य देखभाल एजेंसियों के बीच दवा की आपूर्ति के समान वितरण के लिए एक मैकेनिज्म तैयार का अनुरोध किया गया है। मंत्रालय ने कहा कि इस आवंटन से दवा प्राप्त करने के लिए निजी और सरकारी अस्पतालों के लिए 'प्वाइंट ऑफ कॉन्टैक्ट' के लिए राज्यों में प्रचार करने का भी अनुरोध किया गया है।
इसमें राज्यों से उस स्टॉक का विवेकपूर्ण इस्तेमाल करने का भी अनुरोध किया गया है जिसकी आपूर्ति पहले से ही की गई है और जो स्टॉक आवंटित किया गया है।

मंत्रालय ने कहा कि आपूर्ति की व्यवस्था की निगरानी राष्ट्रीय फार्मास्यूटिकल्स मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (एनपीपीए) द्वारा की जाएगी।
मंत्रालय ने यह भी कहा कि देश महामारी की गंभीर लहर से गुजर रहा है और इसने देश के विभिन्न हिस्सों को प्रभावित किया है और भारत सरकार एक न्यायसंगत और पारदर्शी तरीके से आवश्यक कोविड दवाओं की आपूर्ति बढ़ाने और उन्हें राज्य सरकारों और संघ शासित प्रदेशों को उपलब्ध कराने के लिए लगातार काम कर रही है।
गौरतलब है कि कोरोना से उबरने के बाद ब्लैक फंगस या म्यूकोर्माइकोसिस नामक बीमारी लोगों को अपना निशाना बना रही है। डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना मरीजों के इलाज में स्टेरॉयड का इस्तेमाल पहले से ही उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली यानी इम्यून सिस्टम को कमजोर कर सकता है, जिसके परिणामस्वरूप ब्लैक फंगस होती है।
विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना मरीजों में इस संक्रमण के होने की संभावना अधिक होती है क्योंकि यह हवा में मौजूद है। यह एक सर्वव्यापी फंगस है जो कि पौधों, जानवरों और हवा में मौजूद रहता है। हालांकि यह कोरोना वायरस से ठीक होने वाले मरीजों पर हमला कर रहा है क्योंकि उन्हें स्टेरॉयड दिए गए हैं और उनमें पहले से कई बीमारियां हैं, जो कि इसे और भी बदतर बना देती हैं।
Must Read: 18+ हैं और नहीं मिल रहे COVID-19 Vaccine के स्लॉट, इन वेबसाइटों से मिलेगी मदद

राजधानी दिल्ली स्थित सर गंगाराम अस्पताल के वरिष्ठ ईएनटी सर्जन डॉ. मनीष मुंजाल ने बताया, "यह एक वायरस है और कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगों को निशाना बनाता है। यह फंगस जिस भी स्थान से शरीर में प्रवेश करता है, उस हिस्से को नष्ट कर देता है। कोरोना वायरस के बाद मरीजों को साइटोकिन को कम करने के लिए स्टेरॉयड की एक बड़ी खुराक दी जाती है और यह शरीर में प्रवेश करने के लिए जानलेवा म्यूकोर्माइकोसिस जैसे फंगल इंफेक्शन को मौका देता है।"
newsletter

अमित कुमार बाजपेयी

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्तदिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलIAS अधिकारी ने भारत की थॉमस कप जीत पर मच्छर रोधी रैकेट की शेयर की तस्वीर, क्रिकेटर ने लगाई फटकार - 'ये तो है सरासर अपमान'ताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.