लॉकडाउन में उन चीजों का बनाया वाट्सऐप ग्रुप, खुद सप्लाई करने जाती थी हाई प्रोफाइल महिला

  • दिल्ली में मादक पदार्थ सप्लाई करने वाली हाई प्रोफाइल महिला धरी गई।
  • मांग आने पर पहले PayTM के जरिये एडवांस भुगतान ले लेती थी सप्लायर।
  • दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान मादक पदार्थों की तस्करी का अनोखा मामला।

नई दिल्ली। लॉकडाउन के बीच राजधानी दिल्ली में नशीले पदार्थों की बिक्री के लिए तमाम अनोखे तरीके का इस्तेमाल और फर्जीवाड़ा करने के कई मामले सामने आ रहे हैं। अब एक ताजा मामला वाट्सऐप ग्रुप के जरिये नशीले पदार्थों की सप्लाई करने का आया है, जिसमें एक हाई प्रोफाइल महिला को गिरफ्तार किया गया है।

लॉकडाउन में शराब की होम डिलीवरी को लेकर बड़ा खुलासा, शिकायत मिलते ही पुलिस के हाथ-पांव फूले

जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने एक ऐसी महिला को गिरफ्तार किया है, जो वाट्सऐप ग्रुप के जरिये मादक पदार्थों की बिक्री करती थी। पहले यह महिला पेटीएम के जरिये भुगतान लेती थी और फिर माल सप्लाई करती थी। इस महिला के ग्राहक होते थे राजधानी दिल्ली के बिगड़ैल रईसजादे।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक इस महिला के खिलाफ मुखर्जी नगर थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। 45 वर्षीय यह हाई प्रोफाइल ड्रग सप्लायर महिला राजौरी गार्डन इलाके की रहने वाली है। इन नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए महिला ने बाकायदा एक वाट्सऐप ग्रुप भी बना रखा था।

शादी के कार्ड में मिला ड्रग्स का जखीरा

इस वाट्सऐप ग्रुप में अधिकांश रईस परिवारों के नाबालिग बच्चे जुड़े हुए थे। पकड़ी गयी महिला ई-सिगरेट समेत आदि नशीले पदार्थ महंगी कीमतों पर बेचा करती थी। दिल्ली पुलिस के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान नशीली चीजों की स्मगलिंग का यह अपने आप में पहला अनोखा मामला पकड़ा गया है।

लॉकडाउन के दौरान पांच दोस्तों को नहीं मिली शराब तो किया ऐसा जुगाड़, फिर जो हुआ

महिला को शनिवार को अदालत ने 14 दिन की रिमांड पर भेज दिया। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार महिला का पति व्यापारी है। वो एक्सपोर्ट का कारोबार करता है।

महिला को तब पकड़ा गया जब वह एक किशोर को नशीली सामग्री डिलीवर करने खुद पहुंची थी। इस बारे में पुलिस अब वाट्सऐप ग्रुप से जुड़े ग्राहकों से भी पूछताछ कर रही है।

गौरतलब है कि इससे पहले ठगों ने दिल्ली सरकार के आबकारी विभाग के नाम पर फर्जी वेबसाइट्स बनाकर शराब बेचना शुरू कर दिया था। इन फर्जी बेवसाइट्स ने ग्राहकों के घर तक भी होम-डिलीवरी शराब पहुंचाने का झांसा दिया। इस मामले की शिकायत दिल्ली सरकार के आबकारी विभाग ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और साइबर सेल से लिखित में शिकायत की है।

कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर जल्द भारत-अमरीका संयुक्त रूप से दे सकते हैं बड़ी खुशखबरी

दिल्ली सरकार के आबकारी विभाग की शिकायत के मुताबिक, इन संदिग्ध वेबसाइट्स का प्रचार प्रसार सोशल मीडिया के जरिये किया जा रहा था। इन विज्ञापनों में सुबह 10 से शाम 6 बजे तक सरकारी शराब की होम डिलीवरी का वायदा किया जा रहा था। अपने स्तर पर जब आबकारी विभाग ने छानबीन की, तो पता चला कि इन तमाम वेबसाइट्स का दिल्ली सरकार के आबकारी महकमे से दूर दूर तक कोई वास्ता ही नहीं है।

Paytm
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned