कोरोना कर्फ्यू में ढील के बाद बड़ी संख्या में हिमाचल पहुंचे पर्यटक, जानिए पीछे की दो बड़ी वजह

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में महज 60 घंटे में पहुंची 8100 गाड़ियां, बड़ी संख्या में सैलानियों के पहुंचने से खिले पर्टयन व्यवसासियों के चेहरे

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( Coronavirus ) महामारी के बीच लगे लंबे लॉकडाउन ( Lockdown ) और कर्फ्यू ( Curfew )के बाद लोगों ने पहाड़ी इलाकों में घूमने का मन बना लिया है। इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि हिमाचल प्रदेश ( Himachal Pradesh ) में कोरोना कर्फ्यू में ढील मिलते ही यहां पर्यटकों की जबरदस्त भीड़ पहुंच चुकी है।

कर्फ्यू हटने के बाद ही यहां सैलानियों ( Tourist ) की बाढ़ आ गई है। सूबे के पर्यटन स्थलों में बीते तीन दिन में बड़ी संख्या में टूरिस्ट पहुंचे हैं। इससे कोरोना का खतरा जरूर बढ़ गया है, लेकिन लंबे समय से पर्यटन से जुड़े लोगों के मायूस चेहरे पर मुस्कान भी आ गई है।

यह भी पढ़ेंःWeather Update: दिल्ली में इस वजह से सुस्त पड़ी Monsoon की रफ्तार, जानिए अन्य राज्यों में मौसम का हाल

411.jpg

बीते डेढ़ वर्ष से कोरोना की मार झेल रहे इन कारोबारियों के लिए कोरोना कर्फ्यू में दी गई ढील किसी संजीवनी से कम नहीं है। शिमला (Shimla), मनाली (Manali), कसौली, चंबा जैसे टूरिस्ट स्पॉट सैलानियों से गुलजार हैं।

इस वजह से बढ़ी पर्यटकों की भाड़ी
दरअसल, सरकार ने टूरिस्ट के लिए प्रदेश में एंट्री के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट (RTPCR) की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है. मैदानी इलाकों में भारी गर्मी पड़ रही है और इसी वजह से टूरिस्ट पहाड़ों का रुख कर रहे हैं।

दो साल बाद खुला रोहतांग पास
कोरोना संकट के बीच करीब दो साल बाद रोहतांग पास भी खोला गया है। यही वजह है कि बड़ी संख्या में पर्यटक यहां पहुंच रहे हैं। 13,050 फीट की ऊंचाई पर स्थित विश्व विख्यात पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रा पर्यटकों के लिए खुलने के बाद सोमवार को यहां बड़ी संख्या में सैलानी पहुंचे।
हालांकि, प्रशासन ने यह स्पष्ट किया है कि फिलहाल स्थानीय टैक्सियों को ही एसडीएम कार्यालय से परमिट लेकर रोहतांग जाने दिया जा रहा है।
दरअसल एनजीटी के नियमों के तहत रोहतांग में सिर्फ 1400 वाहनों को ही एक दिन में जाने की इजाजत है।

60 घंटे में 8100 गाड़ियों की एंट्री
गर्मी और कोरोना में घरों में कैद होने के बाद लोगों ने अब पहाड़ों की तरफ रुख किया है। सिर्फ हिमाचल प्रदेश के शिमला में बीते 60 घंटे में 8100 गाड़ियों की एंट्री हुई है।

हालात यह हैं कि राजधानी की सड़कें जाम हो रही हैं। सोलन के परवाणू में तो कालका शिमला एक्सप्रेस हाईवे पर गाड़ियों की लंबा कतारें लग गई थीं।

शिमला के डीएमसी कमल वर्मा के मुताबिक सोमवार को 24 घंटे में शिमला में 3100 गाड़ियां दाखिल हुई हैं। हालांकि उन्होंने आश्वासन दिलाया कि कोरोना नियमों के पालन के लिए पुलिस मुस्तैद है।

यह भी पढ़ेंः गलवान हिंसा का एक साल, सीमा पर भारत ने ऐसे बढ़ाई अपनी ताकत

होटल संचालकों को खास निर्देश
सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि पूरे देश में अन्तरराज्यीय आवाजाही की अनुमति दी गई है। प्रदेश में आने वाले लोगों की सुविधा के लिए कोविड ई-पास सॉफ्टवेयर में रजिस्ट्रेशन के जरिए निगरानी रखी जा रही है।

होटल व्यवसायियों को राज्य सरकार ने मानक संचालन प्रणाली का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं। फेसमास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम के अनुपालन का भी आग्रह किया।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned