Hypertension रोगियों में Coronavirus का ज्यादा खतरा, ये फूड्स और योग क्रियाएं होंगी फायदेमंद

Hypertension और High BP रोगियों में ज्यादा होता है Corona संक्रमण का खतरा, घबराएं नहीं अपनी डाइट में शामिल करें कुछ खास चीजें, इन योग क्रियाओं से भी मिलेगा तुरंत फायदा

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) का खतरा लगातार बढ़ रहा है। कोरोना उन लोगों के लिए बड़ा खतरा है जो पहले से ही हाइपरटेंशन ( Hypertension ) या हाई ब्लड प्रेशर ( High Blood Presure ) के मरीज हैं। ऐसे में उनका इम्युनिटी लेवल अन्य की तुलना में कमजोर रहता है।

कोरोना से करीब 50 फीसदी हाई बीपी के मरीज शिकार होते हैं। एक स्टडी के मुताबिक भारतीय हर दिन करीब 11 ग्राम नमक खा रहा हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक एक शख्स को हर रोज सिर्फ 5 ग्राम नमक ही खाना चाहिए ।

यह भी पढ़ेंः देश में नहीं थम रही Corona की रफ्तार, अब एक दिन में सामने आए 3.32 लाख से ज्यादा नए केस
देश ही नहीं दुनिया की व्यस्क आबादी का करीब एक तिहाई हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर से जूझ रहा है। खास बात यह है कि कोरोना वायरस की बढ़ती रफ्तार के बीच ऐसे मरीजों के लिए ज्यादा खतरा है जो उच्च रक्तचाप से पीड़ित है। लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है। क्योंकि घर रहकर इस चुनौती से निपटा जा सकता है। कुछ खाद्य पदार्थ और बाबा राम देव की ओर से बताई गई योगिक क्रियाओं के जरिए हाई बीपी रोगी खुद को एकदम फिट रख सकते हैं।

चाय से मिल सकती है मदद
कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी, इर्विन की रिसर्च में पाया गया कि चाय में दो कैटेचिन प्रकार के फ्लेवोनोइड यौगिक यानी एपिक्टिन गैलेट और एपिगैलोकैटेचिन-3 गैलेट रक्त वाहिकाओं को रक्त वाहिका की दीवार में प्रोटीन को सक्रिय कर आराम करने में मदद करता है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि चाय गर्म पी जाए या बर्फ के साथ, ये अपने फायदे यानी हाई ब्लड प्रेशर रोधी गुणों को सक्रिय कर सकती है। कुछ अन्य खाद्य पदार्थ भी हैं जिसमें हाई ब्लड प्रेशर रोधी गुण पाए जाते हैं।

अनार का रस
अगर आप हई ब्लड प्रेशर के मरीज हैं तो अनार का रस आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट, हाइपरटेंसिव रोधी और एथेरोस्क्लेरोटिक रोधी गुण पाए जाते हैं। अनार का जूस पीने से हाई ब्लड प्रेशर के विकास को रोकने में मदद मिल सकती है।

50-200 मिलिलीटर अनार का जूस रोजाना सेवन हाइपरटेंसिव मरीजों में ब्लड प्रेशर को कम करने में मददगार साबित हो सकता है।

यह भी पढ़ेंः Corona Vaccination: 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले हो जाएं तैयार, 1 मई को टीका लगवाने से पहले करना होगा ये जरूरी काम

लहसुन का सेवन
लहसुन का सेवन भी हाई बीपी को कंट्रोल करने में मददगार साबित होता है। लहसुन अपने हाइपरटेंसिव रोधी प्रभावों के लिए जाना जाता है। उसमें पाया जानेवाला सल्फर यौगिक एलीसिन अपने ब्लड प्रेशर कम करनेवाले गुणों के लिए काफी हद तक जिम्मेदार समझा जाता है।

केला हाइपरटेंशन को करेगा कंट्रोल
अगर आप हाइपरटेंशन से परेशान हैं तो केला आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है, क्योंकि इसमें पोटैशियम और कैल्शियम काफी मात्रा में होता है जो हाइपरटेंशन को नियंत्रित करने में कारगर है। अमरीकन हार्ट एसोसिएशन के मुताबिक. पोटैशियम रक्त वाहिकाओं की दीवारों में सोडियम के प्रभावों को कम कर टेंशन हल्का करने में मदद करता है।

व्यस्कों को रोजाना 4,700 मिलिग्राम पोटैशियम इस्तेमाल करने की सिफारिश की जाती है।

ये हैं हाई बीपी के लक्षण
सिर भारी होना, नींद न आना, चिड़चिड़ापन, बार-बार सिरदर्द, मानसिक तनाव, सांस लेने में परेशानी, नसों में झनझानहट, बात-बात पर गुस्सा,

इन नुस्खों से भी तुरंत कंट्रोल होगा हाई बीपी
अगर आपको अचानक बीपी बढ़ जाता है तो इन कुछ नुस्खों को अपना सकते हैं। इनसे आपको इंस्टेंट लाभ मिलेगा।

- सिर पर ठंडे पानी को भिगोकर तौलिया रख लें।
- एक बाल्टी पर गर्म पानी भरकर उसमें पैर डूबो लें।
- शीतली और शीतकारी प्राणायाम करते रहें। इससे थोड़ी ही देर में ही हाई ब्लड प्रेशर नॉर्मल हो जाएगा।
- एक कॉटन के कपड़े में आइस क्यूब को बांधकर स्पाइनल कोड की मसाज करें।
- मिट्टी की पट्टी पेट पर थोड़ी देर के लिए रख लें। इससे भी उच्च रक्तचाप कम होगा।

Coronavirus in india
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned