ऑनलाइन कक्षा में आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों के साथ दुर्व्यवहार का मामला, आईआईटी प्रोफेसर को बर्खास्त करने की मांग

वायरल वीडियो में प्रोफेसर को बार-बार गालियां देते हुए सुना जा सकता है। छात्रसंघ ने कार्रवाई की मांग की है।

नई दिल्ली। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर के एसोसिएट प्रोफेसर द्वारा ऑनलाइन कक्षा में अनुसूचित जाति, एससी और अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों के साथ दुर्व्यवहार का मामला सामने आया है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस ऑनलाइन कक्षा में शारीरिक रूप से अक्षम विद्यार्थी भी मौजूद थे। इस घटना के बाद से मांग की जा रही है कि प्रोफेसर को काॅलेज से बर्खास्त किया जाए।

 

Read More: संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए गृह मंत्रालय ने दिए सुझाव, लॉकडाउन और कंटेनमेंट जोन के नियम पर करें काम

कई छात्रों और अभिभावकों ने भाग लिया था

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रविवार दोपहर को सोशल मीडिया पर छात्रों के एक अनौपचारिक समूह ने गुमनाम पोस्ट की थी। क्लिप मानव और सामाजिक विज्ञान विभाग से अंग्रेजी की प्रोफेसर सीमा सिंह द्वारा पढ़ाई गई ऑनलाइन प्रारंभिक कक्षाओं की है। इसमें कई छात्रों और अभिभावकों ने भाग लिया था। इस दौरान प्रोफेसर को बार-बार गालियां देते हुए सुना जा सकता है। आईआईटी खड़गपुर के रजिस्ट्रार तामल नाथ के अनुसार संस्थान वीडियो की सत्यता की समीक्षा कर रहा है। उन्होंने कहा कि शिक्षक ने जातिवादी गालियां दीं, जिसके बाद छात्रसंघ ने कार्रवाई की मांग की है।

सीमा सिंह खड़गपुर के मानविकी विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर हैं और वह ऐसे छात्रों की कक्षाएं लेती हैं जो शारीरिक अक्षमता और आरक्षित वर्ग के हैं। आरक्षित वर्ग के ऐसे छात्रो जो कट-आफ के करीब हैं, मगर उन्हें सीट नहीं मिल पाई हैं, उनके लिए प्रीपेटरी कक्षा लगाई जाती हैं। जो छात्र यहां पर बेहतर प्रदर्शन करता है, उन्हें अगले साल आईआईटी में प्रवेश दिया जाता है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned