कोरोना वायरस से वैश्विक आ​र्थिक संकट का खतरा, 2.5 करोड़ लोगों की नौकरी पर लटकी तलवार: ILO

  • कोरोना वायरस ने 160 से अधिक देशों को अपनी चपेट में ले लिया
  • दुनिया भर में कोरोना ( Coronavirus ) के 194,516 मरीज मिले
  • जबकि इस जानलेवा बीमारी से 7,892 लोगों की मौत हो चुकी है

नई दिल्ली। चीन के वुहान से निकले खतरनाक कोरोना वायरस ( Coronavirus ) ने 160 से अधिक देशों को अपनी चपेट में ले लिया है।

दुनिया भर में कोरोना ( Coronavirus in india ) के अब तक 194,516 मरीज मिले हैं, जबकि इस जानलेवा बीमारी से 7,892 लोगों की मौत हो चुकी है।

वहीं, कोरोना वायरस ( Coronavirus News ) के प्रकोप से वैश्विक अर्थव्यवस्था के खतरे की आशंका पैदा हो गई है।

भारत में कोरोना को लेकर आई अच्छी खबर, समुदाय में वायरस फैलने का प्रमाण नहीं

 

g_1.png

अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन ( ILO ) की ओर से चेतावनी दी गई है कि कोरोना का प्रकोप से दुनिया को आर्थिक संकट में धकेल सकता है।

ILO ने कहा है कि अगर सरकारों ने कोरोना से निपटने के पुख्ता इंतजाम नहीं किए तो इससे लगभग 2.5 करोड़ लोगों की नौकरियां खतरे में पड़ सकती हैं।

दरअसल, ILO ने बुधवार को कहा कि COVID-19 की महामारी से वैश्विक आर्थिक संकट पैदा हो सकता है। इसलिए सरकारों को जरूरत है कि वो कामगारों की नौकरी बचाने के लिए तेज से कदम उठाए।

Coronavirus: किन लोगों में कोरोना के संक्रमण का ज्यादा खतरा, क्या होम्योपैथी में संभव है इलाज?

Coronavirus

ILO ने चेताते हुए कहा कि सरकारों को 2008-09 की मंदी के दौरान उठाए गए कदमों जैसे ही फैसले लेने की जरूरत है। क्योंकि ऐसे प्रयासों से ही बेरोजगारी के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

आपको बता दें कि चीन में कोविड-19 के प्रकोप के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 3,237 हो गई है, जबकि एशियाई देश में कन्फर्म मामलों की संख्या बढ़कर 80,894 हो गई है।

अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने चीन में कोरोनावायरस संक्रमण के कारण 11 नई मौतों और 13 नए कन्फर्म मामलों की जानकारी दी।

कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर ने कर दिया मरीजों का इलाज, संदेह के घेरे में पूरा हॉस्पिटल और मरीज

 

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned