केंद्र सरकार ने एक ना सुनी, पूर्व घोषित तारीख पर ही होंगी JEE-NEET 2020

  • नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने मंगलवार शाम को घोषित की परीक्षा तिथि।
  • JEE Main 1 से 6 सितंबर तक जबकि 13 सितंबर को NEET 2020 होगी।
  • परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाए जाने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के बीच इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षा के आयोजन को लेकर देशभर से विरोध के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इन्हें ना कराने की अपील भी की गई। हालांकि केंद्र सरकार ने किसी की भी एक ना सुनी और मंगलवार शाम को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने दोनों परीक्षाओं के आयोजन पर फैसला सुना दिया। NTA ने घोषणा की है कि JEE Main 2020 और NEET 2020 परीक्षाएं पूर्व निर्धारित तिथियों पर ही आयोजित की जाएंगी।

ICMR के महानिदेशक ने बताया कि कौन देश में फैला रहे है कोरोना वायरस, यह वैक्सीन पहुंची तीसरे फेज में

एनटीए द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक छात्रों की मांग पर JEE (Main) और NEET 2020 की परीक्षाएं जो जुलाई में टाल दी गई थीं, अब सितंबर में आयोजित की जाएंगी। छात्रों की अकादमिक दिलचस्पी को देखते हुए JEE (Main) को 1 से 6 सितंबर 2020 तक आयोजित कराया जाएगा। वहीं, NEET (UG) परीक्षा 13 सितंबर को आयोजित होगी।

एनटीए ने आगे लिखा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी NEET UG-2020 के साथ ही JEE (Main) April 2020 परीक्षाओं को टालने के संबंध में दायर याचिकाओं पर कोई औचित्य नहीं पाया था। एनटीए ने तब से JEE (Main) परीक्षा के प्रवेश पत्र जारी कर दिए हैं। जबकि NEET 2020 के प्रवेश पत्र भी जल्द जारी किए जाएंगे। इसके साथ ही एनटीए यह भी सुनिश्चित करेगा कि 99 फीसदी से ज्यादा अभ्यर्थियों को उनके द्वारा मांगे गए शहरों में ही परीक्षा केंद्र आवंटित किए जाएं।

एनटीए ने आगे लिखा कि JEE Main के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या भी 570 से बढ़ाकर 660 कर दी गई है। जबकि NEET 2020 के लिए इनकी संख्या 2546 से बढ़ाकर 3843 कर दी गई है। जहां JEE कंप्यूटर आधारित परीक्षा है, वहीं, NEET पेन-पेपर के जरिये दी जाएगी।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने किया खुलासा, कब तक भारत में आएगी कोरोना वैक्सीन

इसके साथ ही JEE के लिए परीक्षा पालियों की संख्या भी बढ़ा दी गई है जबकि प्रति पाली में शामिल होने वाले छात्रों की संख्या 1.32 लाख से घटाकर 85 हजार कर दी गई है। एनटीए के मुताबिक JEE के लिए 8.58 लाख जबकि NEET 2020 के लिए 15.97 लाख अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया है। एनटीए द्वारा अपनाए गए इन उपायों का कारण कोरोना वायरस महामारी के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है।

JEE (Main) के अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र में एक सीट छोड़कर बिठाया जाएगा, जबकि NEET के अभ्यर्थियों की प्रति कक्षा में संख्या को 24 से घटाकर 12 कर दिया गया है। इतना ही नहीं छात्रों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के संबंध में क्या करें और क्या ना करें संबंधी दिशा-निर्देश भी जारी किए जा चुके हैं। परीक्षा केंद्र के भीतर से लेकर बाहर तक मानक दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned