Milk Price Hike: कृषि कानून के विरोध में खाप पंचायत का फैसला, 1 मार्च से 100 रुपये लीटर बिकेगा दूध

Highlights

  • कृषि कानूनों और तेल की कीमतों में इजाफे के खिलाफ लिया गया है निर्णय।
  • सरकार के कठोर रवैए को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

नई दिल्ली। हरियाणा के हिसार में खाप पंचायत ने दूध के दाम बढ़ाने (Milk Price Hike) का फैसला लिया है। यहां दूध को एक मार्च से 100 रुपये प्रति लीटर के दाम पर बेचने का निर्णय लिया गया है। पंचायत ने यह फैसला कृषि कानूनों और तेल की कीमतों में इजाफे के खिलाफ लिया है। हालांकी एक दिन पहले से ही ट्विटर पर दूध 100 रुपये लीटर बेचे जाने का हैशटैग ट्रेंड होने लगा था।

5 राज्यों में चुनाव की घोषणा होते ही BJP को लगा करारा झटका, इस दल ने छोड़ा NDA का साथ

हिसार के नारनौद में पंचायत के प्रतिनिधि ने जानकारी देते हुए बताया कि हमने दूध को 100 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से देने का निर्णय लिया है। हम डेयरी किसानों से अपील करते हैं कि सरकारी कोऑपरेटिव सोसाइटी को इसी दाम पर दूध बेचें।' यह फैसला सतरोल खाप की पंचायत में किया गया।

हरियाणा की बड़ी खापों में शामिल सतरोल खाप ने किसानों के समर्थन में इस तरह का फैसला लिया है। इसके अनुसार गरीब आदमी को आपस में दूध देने पर कोई भी पाबंदी नहीं है। पंचायत का कहना है कि किसानों को प्रदर्शन करते हुए बीते कई महीने हो चुके हैं। सरकार के कठोर रवैए को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

इससे पहले सिंघु बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसान नेता ने कहा कि डीजल के दाम बढ़ाकर केंद्र सरकार किसानों को घेरने की कोशिश में जुटी हुई है। इसका तोड़ दूध के दाम दोगुने कर निकाला गया है।

यह भी कहा जा रहा है कि अगर सरकार नहीं मानी तो सब्जियों के दाम भी बढ़ाए जा सकते हैं। ट्विटर पर #1मार्च_से_दूध_100_लीटर हैशटैग कर लोग पूछ रहे हैं कि जब लोग 100 रुपये लीटर पेट्रोल खरीद सकते हैं तो दूध क्‍यों नहीं?

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned