Kisan Andolan: रेल रोको अभियान के चलते रद्द हुई कई ट्रेनें, कुछ रूट में किया गया बदलाव

  • Kisan Andolan रेल रोको अभियान के चलते थमें कई ट्रेनों के पहिए
  • रेलवे ने कुछ ट्रेनों के मार्ग में किया बदलाव
  • सबसे ज्यादा असर पंजाब से आने-जाने वाली ट्रेनों पर पड़ा

नई दिल्ली। कृषि कानून ( Farm Law ) को लेकर सरकार और किसानों के बीच चल रहा तनाव 85वें दिन भी जारी है। 10 दौर से ज्यादा बार बातचीत हो चुकी है, लेकिन अब तक कोई नतीजा सामने नहीं आया है। यही वजह है कि किसानों ने आंदोलन ( Kisan Andolan ) को और तेज करने के लिए 18 जनवरी को रेल रोको अभियान ( Rail Roko Andolan ) का ऐलान किया।

किसानों के रेल रोको अभियान के चलते भारतीय रेलवे ने कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है। यही नहीं कुछ ट्रेनों के रूट में भी बदलाव किया गया है।

ममता बनर्जी को बड़ा झटका देंगे अमित शाह, टीएमसी के इस दिग्गज नेता को बीजेपी में करेंगे शामिल

संयुक्त किसान मोर्चा दोपहर 12 से लेकर शाम 4 बजे तक देशव्यापी रेल रोको आंदोलन करेगा. इस दौरान देशभर में हजारों किसान रेल की पटरियों पर बैठेंगे। यही वजह है कि ट्रेनों को या तो रद्द किया गया है या फिर उनके रूट में बदलाव किया गया है।

आपको बता दें कि किसान नेता राकेश टिकैत इसे रेल रोको नहीं बल्कि रेल खोलो अभियान बता रहे हैं।

52.jpg

इन ट्रेनों पर पड़ा असर
रेल रोको अभियान के चलते सबसे ज्यादा असर पंजाब रूट वाली ट्रेनों पर पड़ा है। मुंबई से पंजाब आने-जाने वाली ट्रेनों को या रद्द किया गया है या फिर उनके मार्ग में बदलाव किया गया।

जिन ट्रेनों के मार्ग बदला है उनमें ट्रेन नंबर...02903, ट्रेन नंबर 02904, ट्रेन नंबर 02925 और ट्रेन नंबर 02926 प्रमुख रूप से शामिल हैं।

जवानों की छुट्टियां हुईं रद्द
यात्रियों की सुरक्षा के लिहाज से रेलवे हाई अलर्ट पर है। यही वजह है कि जीआरपी और आरपीएफ के जवानों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। किसानों के रेल रोको आंदोलन के चलते एहतियातन, रेलवे ने बुधवार से ही पंजाब में कई ट्रेनों को पहले ही रद्द कर दिया था. साथ ही कई ट्रेनों के रूट भी बदले गए थे।

कृषि कानून के विरोध में किसानों का रेल रोको आंदोलन, तैनात की गईं आरपीएसएफ की 20 कंपनियां

सितंबर में भी हुआ था रेल रोको अभियान
आपको बता दें कि किसानों ने इससे पहले पिछले वर्ष सितंबर में भी रेल रोको अभियान चलाया था। इसकी वजह से पंजाब में करीब दो महीने तक कई ट्रेनों की आवाजाही पर सीधा असर पड़ा था।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned