script कश्मीर पुलिस का जवान नौकरी छोडक़र बन गया था लश्कर का टॉप कमांडर, 4 साल बाद सुरक्षा बलों ने उसे ऐसे सुलाया मौत की नींद | lashkar top commander killed in encounter in jammu and kashmir | Patrika News

कश्मीर पुलिस का जवान नौकरी छोडक़र बन गया था लश्कर का टॉप कमांडर, 4 साल बाद सुरक्षा बलों ने उसे ऐसे सुलाया मौत की नींद

locationनई दिल्लीPublished: Jul 19, 2021 03:07:28 pm

Submitted by:

Ashutosh Pathak

इससे पहले सुरक्षा बलों को वहां आतंकियों के मौजूद होने की सूचना मिली थी। तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसके जवाब में सुरक्षा बलों ने भी गोलियां चलाईं

 

terrorist.jpg
नई दिल्ली।

जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष आतंकी मारा गया। पुलिस अधिकारियों के अनुसार दक्षिण कश्मीर में शोपियां के चक सादिक खान इलाके में सुरक्षा बलों ने घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया था। इससे पहले सुरक्षा बलों को वहां आतंकियों के मौजूद होने की सूचना मिली थी। तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसके जवाब में सुरक्षा बलों ने भी गोलियां चलाईं।
यह भी पढ़ें
-

शादी से ठीक पहले सडक़ पर दुल्हन ने की ऐसी हरकत, पुलिस को दर्ज करनी पड़ी एफआईआर

कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने बताया कि अशफाक डार उर्फ अबू अकरम वर्ष 2017 से इस क्षेत्र में सक्रिय था। वह लश्कर के शीर्ष आतंकियों में से एक था। अकरम को पुलिस, सेना और सीआरपीएफ की ओर से चलाए जा रहे संयुक्त अभियान में मार गिराया गया। विजय कुमार के मुताबिक, इस साल एक जनवरी से अब तक कुल 80 आतंकियों को मारा जा चुका है। इनमें कुछ शीर्ष कमांडर भी शामिल हैं। मारे गए 80 में से 41 आतंकी लश्कर के हैं।
यह भी पढ़ें
-

दक्षिण अफ्रीका में दंगा: प्रवासी भारतीयों की दुकानों और घरों को लूट रहे उपद्रवी, जानिए क्यों

अशफाक डार उर्फ अबू अकरम पहले जम्मू-कश्मीर का जवान था। बाद में उसने वर्ष 2017 में नौकरी छोड़ दी थी और आतंक का रास्ता चुन लिया था। इससे पहले श्रीनगर में गत शुक्रवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर के दो आतंकी मारे गए थे। अधिकारियों के अनुसार श्रीनगर के दानमार इलाके में स्थित आलमदार कॉलोनी में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद पुलिस और सीआरपीएफ ने एक संयुक्त अभियान चलाया था। पुलिस ने आतंकियों से पहले आत्मसमर्पण करने को कहा, मगर आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी, जिसके जवाब में सुरक्षा बलों ने भी गोलियां दागी, जिसमें दो आतांकियों की मौत हो गई।

ट्रेंडिंग वीडियो