आतंक के खिलाफ सेना को मिले फ्री हैंड का असर, जम्मू कश्मीर में 43 फीसदी घटी घुसपैठ

आतंक के खिलाफ सेना को मिले फ्री हैंड का असर, जम्मू कश्मीर में 43 फीसदी घटी घुसपैठ

  • Jammu Kashmir पर Home Ministry की रिपोर्ट में खुलासा
  • घाटी में आतंकी वारदातों में 28 फीसदी की कमी
  • सुरक्षाबलों द्वारा आतंकियों के खात्मे में 22% बढ़ोतरी

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( jammu kashmir ) में आतंक के सफाए के लिए भारतीय सुरक्षा बलों ( Indian Security Forces ) के ऑपरेशन का असर दिखने लगा है। मोदी सरकार ने दावा किया है कि घाटी में घुसपैठ और आतंकी वारदात में पिछले साल की तुलना में जबरदस्त कमी आई है। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ( G Kishan Reddy ) ने इस संबंध में संसद में बयान दिया है।

संसद में छह महीने का रिपोर्ट कार्ड

केंद्र सरकार ने बताया कि पिछले साल की तुलना में इस साल के शुरूआती छह महीने में आतंक से जुड़े लगभग सभी मामलों में कमी आई है। वहीं आतंकियों के खात्मे की रफ्तार में गजब का इजाफा हुआ है। ये सबकुछ आतंक पर लगाम लगाने की दिशा में देखा जा रहा है।

रत्नागिरी बांध टूटने से मर गए 23 लोग, महाराष्ट्र के मंत्री ने कहा- इसके लिए केकड़े जिम्मेदार

तेजी से मारे जा रहे हैं आतंकी

जी किशन रेड्डी ने कहा जम्मू-कश्मीर में आतंकी वारदात में 28 प्रतिशत की कमी आई है। वहीं घुसपैठ की घटनाएं भी 43 प्रतिशत कम हुईं। घाटी के युवाओं को पाकिस्तानी आतंकी बरगला कर संगठन में भर्ती करते थे, इसमें भी 40 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है। इन सबके बाद जम्मू कश्मीर में पिछले 6 महीने के आतंकियों के खात्मे की रफ्तार में 22 प्रतिशत का इजाफा देखने को मिला है।

पाकिस्तान में ही छिपा है अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम: विदेश मंत्रालय

आतंक पर सुरक्षाबलों ने कसी लगाम
आतंकी वारदात 28% की कमी
घुसपैठ की घटना 43% की कमी
आतंकियों की भर्ती 40% की कमी
आतंकियों का खात्मा 40% की बढ़ोतरी
indian army

गृह मंत्रालय का मानना है कि सुरक्षाबलों को मिले फ्री हैंड और आंतक पर केंद्र सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति ने आतंकी संगठनों की जड़े हिला दी हैं। कुछ समय पहले खबर आई थी कि घाटी में आतंकी सगंठनों को अब कमांडर तक नहीं मिल रहे हैं।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned